रेप का आरोपी बसपा सांसद अतुल राय फरार, घर के बाहर चस्पा किया गया कुर्की का नोटिस

पुलिस ने बसपा सांसद अतुल राय की संपति कुर्क करने की प्रक्रिया भी शुरू की है। गिरफ्तारी नहीं होने पर जल्द ही कोर्ट से अनुमति लेकर लंका पुलिस सांसद अतुल की संपत्ति कुर्क कर सकती है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 14 Jun 2019 02:44 PM
rape accused bsp mp atul rai news

वाराणसी, एबीपी गंगा। लोकसभा चुनाव 2019 में घोसी से जीत दर्ज करने वाले बहुजन समाज पार्टी के नेता अतुल राय के घर पर कुर्की का नोटिस चस्पा किया गया है। अपनी सहपाठी के साथ ही दुष्कर्म के आरोप में फरार अतुल राय ने सुप्रीम कोर्ट से अग्रिम जमानत का प्रयास किया था। फरारी काटने के दौरान ही भाजपा सांसद को शिकस्त देने वाले अतुल राय समर्पण करने के प्रयास में हैं, लेकिन उनकी तलाश में लगी पुलिस ने कल वाराणसी में उनके आवास पर कुर्की का नोटिस चस्पा कर दिया।


नहीं मिली जमानत


लोकसभा चुनाव के दौरान ही बसपा नेता अतुल राय पर युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। इसके बाद से अतुल राय फरार हैं। अदालत में हाजिर नहीं होने पर कुर्की का आदेश जारी हुआ है। यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा की शिकायत पर अतुल राय के खिलाफ लंका थाने में रेप का मुकदमा दर्ज हुआ था। अतुल राय ने इलाहाबाद हाई कोर्ट से अरेस्ट स्टे तथा सुप्रीम कोर्ट से अग्रिम जमानत का प्रयास किया, लेकिन कहीं से उनको सफलता नहीं मिली।


जेल तो जाना पड़ेगा


घोसी के सांसद अतुल राय को खोजने में पुलिस की सभी टीम नाकाम साबित हो चुकी हैं। क्राइम ब्रांच की सर्विलांस सेल भी राय का पता लगाने में नाकाम साबित हुई है। सरेंडर अर्जी और गिरफ्तारी पर रोक की याचिका खारिज होने से सांसद के सामने गिरफ्तारी के साथ जेल जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है लेकिन वह पुलिस से भागते फिर रहे हैं।


लंका थाने में केस दर्ज


गाजीपुर में भांवरकोल निवासी बसपा नेता अतुल राय वाराणसी में रेलवे में ठेकेदारी करते रहे हैं। एक मई को यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा ने अतुल के खिलाफ लंका थाने में दुष्कर्म और धमकी का केस लिखाया है। आरोप है कि बीते वर्ष मार्च में अतुल ने लंका के अपने फ्लैट में बुलाकर दुष्कर्म किया था। वीडियो भी बना लिया जिसके जरिए लगातार ब्लैकमेल करते रहे। पुलिस ने मुकदमा लिखने के बाद कोर्ट से गैर जमानती वारंट लेकर मऊ, गाजीपुर, बलिया, चंदौली समेत कई जिलों में छापेमारी की मगर आरोपी अतुल राय हाथ नहीं आए।


संपति कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू


अतुल ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक याचिका दायर की लेकिन कोर्ट ने राहत नहीं दी। फिर उन्होंने जिला अदालत में समर्पण की अर्जी दी लेकिन तीन बार वह नियत तिथि पर कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। ऐसे में कोर्ट ने समर्पण अर्जी भी खारिज कर दी। यानी 23 मई को घोसी से सांसद निर्वाचित हो चुके अतुल राय के सामने अब बचाव का कोई रास्ता नहीं है। संसद जाने से पहले दुष्कर्म के मामले में उनकी गिरफ्तारी होगी और जेल भी जाना तय है। इस बीच पुलिस ने उनकी संपति कुर्क करने की प्रक्रिया भी अदालत में शुरू की है। गिरफ्तारी नहीं होने पर जल्द ही कोर्ट से अनुमति लेकर लंका पुलिस सांसद अतुल की संपत्ति कुर्क कर सकती है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी का कहना है कि आरोपी के खिलाफ निर्धारित कानूनी प्रक्रिया अपनाई जा रही है।



वाराणसी में दर्ज है केस


अतुल राय पर बलिया की युवती ने रेप, धोखाधड़ी और धमकी देने समेत कई धाराओं में केस दर्ज कराया। एफआईआर के मुताबिक, अतुल राय युवती को लंका स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट में झांसा देकर ले गए और उनका यौन शोषण किया। युवती ने उनपर यह आरोप भी लगाया है कि बसपा नेता ने दुष्कर्म की घटना के बाद उस पर मुंह बंद रखने का दबाव बनाते रहे हैं।