बीजेपी की ऐतिहासिक जीत पर झूम उठीं मुस्लिम महिलाएं, वाराणसी में दिखा होली-दीवाली जैसा जश्न

मुस्लिम महिला फाउंडेशन की अध्यक्ष नाजनीन अंसारी ने कहा कि अब मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से पूरी आजादी मिल जाएगी। मोदी की जीत मुस्लिम महिलाओं की जीत है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 24 May 2019 07:02 PM

वाराणसी, एबीपी गंगा। नरेंद्र मोदी की अगुआई में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत की खबर सुनते ही वाराणसी की मुस्लिम महिलाएं झूम उठीं। खुशी का इजहार करते हुए एक-दूसरे को गले लगकर बधाई दी। वाराणसी संसदीय सीट पर नरेंद्र मोदी की रिकॉर्ड जीत से हर तरफ हर्ष व उल्लास का माहौल है। इसी क्रम में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के संयोजन में रोजेदार महिलाएं अपनी खुशी का इजहार करने रेवड़ी तालाब क्षेत्र स्थित कार्यालय में इकट्ठा हुईं। मस्लिम महिलाओं ने काशी की पावन धरती से देश-दुनिया को गंगा-जमुनी तहजीब का पैगाम भी दिया गया।


पीएम मोदी के लिए मांगी थी दुआ


बता दें कि, मुस्लिम महिलाओं ने अजमेर जाकर ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर नरेंद्र मोदी की जीत के लिए मन्नत मांगी थी। वहां से लाया गया रक्षा सूत्र नामांकन से पहले रोड शो में पीएम मोदी को बांधना चाहती थीं, लेकिन पर्याप्त समय न होने से उन्हें मौका नहीं मिल सका। बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा काशी क्षेत्र मीडिया प्रभारी हुमा बानो ने कहा कि अब चूंकि मोदी को बहुमत मिल चुका है। ऐसे में मन्नत उतारने के लिए शपथ ग्रहण के बाद मुस्लिम महिलाएं अजमेर रवाना होंगी।


सभी वर्गों को साथ लेकर चल रहे हैं पीएम 


हुमा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ऐतिहासिक जीत इस बात का प्रमाण है कि वो समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर चल रहे हैं और देश को विकास पथ पर ले जा रहे हैं। इस अवसर पर नसरीन बानो, शमशुल निशा, लुबना बेगम, जहांआरा, अनवरी बेगम, खुदाया खातून, अरबिया फातिमा, तनवीर बेगम, हुस्ना बेगम, सादिया खातून, तबस्सुम आदि रहीं।



जीत का जश्न


लमही स्थित सुभाष भवन में भी विशाल भारत संस्थान व मुस्लिम महिला फाउंडेशन के संयोजन मुस्लिम महिलाओं ने मोदी की जीत का जश्न मनाया। सुभाष भवन में सुबह से ही ढोल-ताशे की थाप पर अबीर-गुलाल उड़ाने व झूमने का दौर जारी था। मुस्लिम महिला फाउंडेशन की अध्यक्ष नाजनीन अंसारी ने कहा कि अब मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से पूरी आजादी मिल जाएगी। तीन तलाक और हलाला जैसी कुप्रथा के लिए स्थाई कानून बनाया जाएगा। मोदी की जीत मुस्लिम महिलाओं की जीत है।