जिंदगी का भरपूर लुत्फ उठाना चाहता हूं, हर वो काम करता हूं जिससे टीम को फायदा हो: कोहली

विराट कोहली ने कहा कि, 'भगवान ने इतनी अच्छी जिंदगी दी है, देश के लिए खेलने का इतना अच्छा मौका मिला है मुझे लगता है कि हमें इन पलों का भरपूर आनंद लेना चाहिए।'

By: एबीपी गंगा | Updated: 13 Aug 2019 11:02 AM
Virat Kohli says he want to enjoy every moment of life

पोर्ट आफ स्पेन, एजेंसी। विराट कोहली नहीं चाहते कि क्रिकेट और जिंदगी का लुत्फ उठाते समय कप्तानी आड़े आए। भारतीय कप्तान ने कहा कि यही वजह है कि अक्सर कानों में संगीत पड़ने पर वह मैदान पर थिरकने लग जाते हैं। कोहली को वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में बारिश के खलल के दौरान क्रिस गेल और मैदानकर्मियों के साथ कैरेबियाई धुनों पर थिरकते हुए देखा गया।


कोहली ने दूसरे वनडे के बाद युजवेंद्र चहल से कहा, 'मैं बेहद खुले दिमाग का इंसान हूं और इसलिए जब भी मुझे संगीत सुनाई देता है तो मेरे पांव खुद ही थिरकने लग जाते हैं।' सीसीआई टीवी पर पोस्ट किये गये इस वीडियो में कोहली ने कहा, 'मैं मैदान पर हर पल का लुत्फ उठाना चाहता हूं। यह मेरे ऊपर भगवान की कृपा है। यह मायने नहीं रखता कि मैं कप्तान हूं या नहीं।'



भांगड़ा को अपना पसंदीदा 'डांस' बताने वाले कोहली ने कहा कि, 'भगवान ने इतनी अच्छी जिंदगी दी है, देश के लिए खेलने का इतना अच्छा मौका दिया है तो मुझे लगता है कि हमें इन पलों का भरपूर आनंद लेना चाहिए। विरोधी टीमों के साथ भी कभी कभी मजाक करना अच्छा लगता है।'


कोहली ने कहा कि, 'मैं हमेशा अपनी टीम के लिए किसी भी तरह से कड़ी मेहनत करना चाहता हूं चाहे फिर वह जरूरी कैच लेना हो या रन आउट करना।' उन्होंने कहा, 'मेरा मानना है कि हर खिलाड़ी को अपनी जीवनशैली इस तरह से बनानी चाहिए और अनुशासित रहना चाहिए ताकि वह मैदान पर शत प्रतिशत दे सको। अगर आप ऐसा नहीं करते तो आप अपनी टीम के साथ न्याय नहीं कर सकते। मैं वह हर काम करता हूं जिससे मैं टीम के लिए अपना पूरा योगदान दे सकूं।'



कोहली ने कहा, 'मैंने अपनी जीवनशैली, अभ्यास और खानपान इस तरह से बदला है ताकि मैं कड़ी परिस्थतियों में भी टीम के लिये योगदान देने में सक्षम रहूं। इससे इस तरह के दिनों में मदद मिलती है जबकि परिस्थितियां काफी कड़ी होती हैं।'