वेस्टइंडीज को मात देने के बादल कप्तान कोहली ने कही बड़ी बात, बोले- ये जिम्मेदारी लेने का मौका था

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जीत के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान ने कहा कि 'हमें पता था कि 270 से ऊपर का कोई भी लक्ष्य चुनौतीपूर्ण होगा। टीम को जब जरूरत थी तब शतक जड़कर अच्छा लग रहा है।'

By: एबीपी गंगा | Updated: 12 Aug 2019 02:10 PM
Kohli said it was a chance for me to move forward and take responsibility

पोर्ट आफ स्पेन, एजेंसी। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जीत के बाद कहा कि शुरुआती विकेट गंवाने के बाद यह आगे बढ़कर जिम्मेदारी लेने की उनकी बारी थी। कोहली ने दूसरे मैच में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 42वां शतक पूरा किया। सलामी बल्लेबाजों शिखर धवन (02) और रोहित शर्मा (18) के विकेट जल्दी गंवाने के बाद 30 साल के कोहली ने 125 गेंद में 120 रन की पारी खेली जिससे भारत ने वर्षा से प्रभावित मैच में रविवार को सात विकेट पर 279 रन बनाए। भारत ने डकवर्थ लुईस पद्धति के तहत मैच 59 रन से जीता।


कोहली ने तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त हासिल करने के बाद कहा, 'हमें पता था कि 270 से ऊपर का कोई भी लक्ष्य चुनौतीपूर्ण होगा। टीम को जब जरूरत थी तब शतक जड़कर अच्छा लग रहा है।' उन्होंने कहा, 'शिखर और रोहित बड़ी पारी नहीं खेल पाए। शीर्ष तीन में से एक को हमेशा बड़ी पारी खेलनी होती है। सीनियर खिलाड़ी को आगे आना होता है और आज आगे आकर खेलने का मौका मेरे पास था।'



कोहली विश्व कप में बड़ी पारियां नहीं खेल पाए थे और मार्च के बाद यह उनका पहला शतक है। इस पारी के दौरान वह पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को पीछे छोड़कर एकदिवसीय मैचों में भारत के दूसरे सबसे सफल बल्लेबाज भी बने। भारतीय कप्तान ने वेस्टइंडीज के खिलाफ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में सर्वाधिक रन के पाकिस्तान के जावेद मियांदाद के 26 साल पुराने रिकार्ड को भी तोड़ा।


कोहली ने कहा कि टास जीतना अच्छा रहा क्योंकि दूसरी पारी में विकेट बल्लेबाज के लिए मुश्किल हो गया था। उन्होंने कहा, 'हमने बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए हम ऐसा ही करना चाहते थे। अगर आप वेस्टइंडीज की पारी का दूसरा हिस्सा देखो तो बल्लेबाजी करने में मुश्किल हो रही थी। मुझे लगता है कि बारिश से उन्हें मदद मिली, अन्यथा बल्लेबाजी करना और मुश्किल होता।'




कोहली ने कहा, 'जब शिमरोन हेटमायर और निकोलस पूरण एक साथ खेल रहे थे तब बारिश के कारण बल्लेबाजी थोड़ी आसान हो गई थी। गेंद जब आउटफील्ड में जा रही थी तो गीली होने के कारण ग्रिप करने में दिक्कत हो रही थी। भारतीय कप्तान ने कहा कि वेस्टइंडीज की टीम में बायें हाथ के बल्लेबाजों की संख्या को देखते हुए उन्होंने युजवेंद्र चहल की जगह कुलदीप यादव को खिलाने का फैसला किया। कोहली ने श्रेयस अय्यर की भी तारीफ की जिन्होंने 71 रन की उम्दा पारी खेली। उन्होंने कहा, 'वह काफी आत्मविश्वास के साथ खेलने वाला बल्लेबाज है और उसका रवैया भी सही है। उसने तेजी से रन बनाए और मेरे ऊपर से दबाव कम किया। मेरे आउट होने के बाद उसने अतिरिक्त रन भी बनाए।'


वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने कहा कि अंतिम छह विकेट 62 रन पर खोने के कारण उन्हें मैच गंवाना पड़ा। वेस्टइंडीज की टीम चार विकेट पर 148 रन बनाकर एक समय अच्छी स्थिति में दिख रही थी लेकिन इसके बाद उसने लगातार विकेट गंवाए और पूरी टीम 42 ओवर में 210 रन पर ढेर हो गई।



होल्डर ने कहा, 'बेहद निराशाजनक। हमने काफी अच्छी गेंदबाजी की और मैच हमारे हाथों में था। हमने अंतिम लम्हों में अहम विकेट गंवाए और मैच हार गए।' उन्होंने कहा, 'हमें जिम्मेदारी लेनी होगी। हमें मैच को और लंबा खींचना होगा। पिच काफी अच्छी थी और उमस भरे हालात के बावजूद गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया। बल्लेबाजों को जिम्मेदारी लेनी होगी। वे हमें काफी निराश कर रहे हैं।'