Ind vs Aus: भारत की वर्ल्डकप में लगातार दूसरी जीत, ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया

Ind vs Aus वर्ल्ड कप 2019: वर्ल्ड कप में दोनों देशों के बीच इन 11 मुकाबलों पर गौर करें तो पता चलता है कि पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 9 बार मैच जीता है, जबकि सिर्फ लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम सिर्फ 2 बार ही जीत सकी है। इस रिकॉर्ड को देखते हुए दोनों टीमों के कप्तान टॉस जीतना चाहेंगे।

By: एबीपी गंगा | Updated: 18 Jun 2019 11:03 AM
ICC world cup 2019 india vs australia match today

नई दिल्ली, एबीपी गंगा। विश्व कप 2019 में भारत ने लगातार दूसरी जीत हासिल कर ली है। आज के मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया। शुरुआत से ही इस मैच में भारत का पलड़ा भारी रहा। पहले भारत ने टॉस जीता औऱ बल्लेबाजी का फैसला किया। इस दौरान भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 353 रन का विराट लक्ष्य दिया। जिसका पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम लड़खड़ा गई और भारत की झोली में जीत आई। भारत ने पांच विकेट गंवाकर 352 रन बनाए। इनमें ओपनिंग बल्लेबाज शिखर धवन का शतक भी शामिल है।  धवन 117 रन बनाकर आउट हो गए। इसके अलावा विराट कोहली ने भी 82 रन बनाए।


भारतीय टीम साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपना पहला मुकाबला जीत चुकी है। वहीं ऑस्ट्रेलिया ने भी अफगानिस्तान और वेस्ट इंडीज को हराया है। दोनों टीमों को लेकर अगर आंकड़ों की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच हुए 136 मुकाबलों में भारत ने 49 मैच जीते हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया ने 77 मैचों में जीत हासिल की है। 10 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला। वर्ल्ड कप की बात करें तो ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 8 और भारत ने तीन मैच जीते हैं।


टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला
इससे पहले भारत ने टॉस जीत लिया है और पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया है। बता दें कि वर्ल्ड कप में दोनों देशों के बीच इन 11 मुकाबलों पर गौर करें तो पता चलता है कि पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 9 बार मैच जीता है, जबकि सिर्फ लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम सिर्फ 2 बार ही जीत सकी है।  वैसे इस विश्व कप में कंगारू टीम शानदार प्रदर्शन कर रही है और टीम इंडिया की राह 9 जून को होने वाले मुकाबले में कतई आसान नहीं रहने वाली है।



गेंदबाजों को करना होगा बेहतर प्रदर्शन


मौजूदा भारतीय टीम पर नजर डालें तो कप्तान विराट कोहली पर सभी नजरें रहेंगी। इसके अलावा टीम इंडिया की ताकत बल्लेबाजी है। इस मैच में रोहित, शिखर और विराट की भूमिका अहम रहने वाली है लेकिन गेंदबाजी में ब्लू ब्रिगेड को उम्दा प्रदर्शन करना होगा। गेंदबाजी की जिम्मेदारी दुनिया के नंबर वन बॉलर जसप्रीत बुमराह संभालेंगो तो वहीं कुलदीप और चहल की फिरकी भी कंगारुओं को परेशान कर सकती है। मध्य क्रम अब भी टीम इंडिया के लिए कमजोर कड़ी साबित हो सकता है। फिलहाल टीम जीत के बाद कॉन्फिडेंट है। साउथैम्टन की उछालभरी विकेट पर टीम इंडिया ने बेहतर प्रदर्शन किया था।



क्या थम जाएगा कंगारुओं की जीत का सिलसिला


अगर बात ऑस्ट्रेलिया की करें तो इस टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैच को पूरी तरह से पलटने की क्षमता रखते हैं। स्मिथ और वॉर्नर की वापसी ने कांगारू टीम के हौसले बढ़ा दिए हैं। आस्ट्रलिया के गेंदबाज भी बेहतर फॉर्म में हैं और टीम इंडिया को सूझ-बूझ के साथ मैदान पर उतरना होगा। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अपने पिछले लगातार 10 वनडे मैच जीते हैं और अब देखना है कि ये सिलसिला अब थमेगा या नहीं।