टाइम मैगजीन ने अपने लेख में मोदी को बताया, 'भारत का डिवाइडर इन चीफ'

अमेरिकी मैगजीन के कवर पेज पर पीएम मोदी। टाइम ने मोदी पर छपे लेख में उन्हें 'भारत का डिवाइडर इन चीफ बताया'।

By: एबीपी गंगा | Updated: 10 May 2019 05:25 PM
PM Modi on Time magazine cover page
नोएडा, एबीपी गंगा। दुनिया की मशहूर मैगजीन टाइम अपनी एक्सक्लूसिव स्टोरी के लिए तो जानी ही जाती है साथ ही इस अमेरिकी पत्रिका का कवर पेज भी कम सुर्खियां नहीं बटोरता। टाइम ने इस बार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विशेष कवरेज की है। हालांकि जिस शीर्षक से यह पहले पन्ने पर है, उस पर तमाम विवाद जन्म ले सकते हैं। स्टोरी के संदर्भ में मोदी को 'भारत का डिवाइडर इन चीफ' बताया गया है'।

लेखक आतिश तसीर ने पीएम मोदी पर विशेष रिपोर्ट में कई तरह के पहलू छूये हैं। इसके तहत उन्होंने लिखा कि मोदी भारत के ऐसे पीएम ने जिन्होंने देश के सांप्रदायिक माहौल को बिगड़ने दिया। यही नहीं तसीर ने लिखा कि मोदी ने इस वातावरण को सुधारने के लिए कोई कोशिश नहीं की। हालांकि यह मैगजीन अभी बाजार में नहीं आई है। लेकिन टाइम ने अपनी वेबसाइट पर रिपोर्ट प्रकाशित करते हुए कवर पेज जारी किया है। मैगजीन का यह अंक 20 मई 2019 को प्रकाशित होगा।



पीएम मोदी के पांच साल के कार्यकाल को आधार बनाते हुए इस रिपोर्ट में उनकी आलोचना के साथ सरकार की कई योजनाओं और फैसलों की तारीफ भी की गई है। इस लेख में कर सुधार के मुद्दे पर मोदी सरकार द्वारा उठाये गये कदमों की सराहना की गई है। रिपोर्ट की लीड स्टोरी 'Can The World's Largest Democracy Endure Another Five Years of Modi Government'?

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि नरेंद्र मोदी ने भारत के महान शख्सियतों पर राजनीतिक हमले किए जैसे कि नेहरू। वह कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं, उन्होंने कभी भी हिन्दू-मुसलमानों के बीच भाईचारे की भावना को मजबूत करने के लिए कोई इच्छाशक्ति नहीं दिखाई। आगे इस लेख में कहा गया है कि नरेंद्र मोदी का सत्ता में आना इस बात को दिखाता है कि भारत में जिस कथित उदार संस्कृति की चर्चा की जाती थी वहां पर दरअसल धार्मिक राष्ट्रवाद, मुसलमानों के खिलाफ भावनाएं और जातिगत कट्टरता पनप रही थी।

इस लेख में मॉब लिंचिंग और गाय के नाम पर हुई हिंसा का भी जिक्र किया गया है। लेखक आतीश तसीर ने कहा है कि गाय को लेकर मुसलमानों पर बार-बार हमले हुए और उन्हें मारा गया। एक भी ऐसा महीना न गुजरा हो जब लोगों के स्मार्टफोन पर वो तस्वीरें न आई जिसमें गुस्साई हिन्दू भीड़ एक मुस्लिम को पीट न रही हो।

आर्थिक नीतियों की तारीफ

टाइम पत्रिका के इसी संस्करण के एक दूसरे लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीतियों की जमकर तारीफ भी की गई है। इयान ब्रेमर नाम के पत्रकार ने लिखा है कि मोदी ही वो शख्स है जो भारत के लिए डिलीवर कर सकते हैं। Modi Is India's Best Hope for Economic Reform के शीर्षक से लिए गए इस लेख में कहा गया है कि भारत ने मोदी के नेतृत्व में चीन, अमेरिका और जापान से अपने रिश्ते तो सुधारे ही हैं, लेकिन उनकी घरेलू नीतियों की वजह से करोड़ों लोगों की जिंदगी में सुधार आया है।

इस लेख में जीएसटी लागू करने के लिए मोदी की सराहना की गई है और और कहा गया है कि नरेंद्र मोदी ने भारत की जटिल टैक्स व्यवस्था को सरल और सहज कर दिया। टाइम में लिखा गया है कि पीएम मोदी ने देश में बुनियादी ढांचे में जमकर निवश किया है। नई सड़कों का निर्माण, हाईवे, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और एयरपोर्ट ने देश की दीर्घकालीन आर्थिक संभावनाओं में आशा का संचार कर दिया है।

बहराहल ये लेख ऐसे वक्त पर आया है जबकि देश में आम चुनाव हो रहे हैं। पीएम मोदी पर ये विश्लेषण
कितना और कहां तक असर डालता है, ये कहना तो मुश्किल है। हालांकि टाइम मैगजीन ने पीएम मोदी को दुनिया के सौ प्रभावशाली लोगों में शामिल किया था।