बेटी को बचाने के लिए मायके में रह रही महिला ने खोला राज, बोली- बलि देने का बनाया गया दबाव

महिला का कहना हे कि दो बार पति उसकी हत्या की कोशिश कर चुका है। महिला ने ससुराल के लोगों पर बेल्ट से मारने, बिजली के झटके देने व गर्म चिमटे से दागने का भी आरोप लगाया है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 08 May 2019 04:43 PM
Family Charged For Allegedly Torturing Woman For Dowry

नोएडा, एबीपी गंगा। एक महिला ने पति व ननद समेत ससुराल के अन्य सदस्यों पर डेढ़ साल की बेटी की बलि देने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। महिला का कहना है कि उसकी ननद शादी के कई साल बाद भी मां नहीं बन पाई है। उसे भ्रम है कि बच्ची की बलि देने से वह मां बन जाएगी। ससुराल के लोग बेटी की बलि देने के लिए विभिन्न तरह से प्रयास कर रहे हैं। महिला ने पति पर अप्राकृतिक संबंध बनाने, हत्या की कोशिश व दहेज में पांच लाख रुपये मांगने का भी आरोप लगाया है। पीड़िता ने महिला आयोग से शिकायत की है।


बेटी की बलि देना चाहते हैं ससुराल के लोग


गिझौड़ निवासी महिला का कहना है कि उसकी शादी 20 मई 2013 को भिंड, मध्यप्रदेश के चिरावली गांव निवासी दीपक कुमार से हुई है। शादी के कुछ माह बाद ही पति समेत ससुराल के लोग उसे प्रताड़ित करने लगे। महिला का कहना है कि उसके तीन बच्चे हैं। उसकी ननद को किसी बाबा ने छोटी बच्ची की बलि देने पर मां बन जाने का झांसा दिया है। मां बनने की चाहत में वह ससुराल के लोगों से मिलकर उसकी बेटी की बलि देना चाहती है। इसलिए वह सभी बच्चों को लेकर मायके में रह रही है।



हत्या की कोशिश का आरोप


महिला का आरोप है कि वह ससुराल के लोगों का विरोध करती है तो पति उसके साथ मारपीट करता है। महिला का यह भी कहना हे कि दो बार पति उसकी हत्या की कोशिश कर चुका है। महिला ने ससुराल के लोगों पर बेल्ट से मारने, बिजली के झटके देने व गर्म चिमटे से दागने का भी आरोप लगाया है। फरवरी माह में आरोपितों ने उसके साथ मारपीट की थी और घर से बाहर निकाल दिया था। महिला आयोग के निर्देश पर पति समेत ससुराल के लोगों पर दहेज उत्पीड़न व मारपीट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस महिला के आरोपों की जांच कर रही है।