रामपुर में उपचुनाव से पहले डीएम और एसएसपी को हटाने की मांग, मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मिला सपा का डेलीगेशन

सपा के डेलिगेशन ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला को ज्ञापन भी सौंपा। ज्ञापन में समाजवादी पार्टी ने मांग की है कि रामपुर में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए वहां तैनात डीएम और एसएसपी को तत्काल हटाया जाए।

By: एबीपी गंगा | Updated: 22 Sep 2019 06:16 PM
SP Demands for removal of DM and SSP before by election in Rampur
 

लखनऊ, अनुभव शुक्ला। उत्तर प्रदेश में विधानसभा की 11 सीटों पर उपचुनाव होना है और इन उपचुनाव की तारीखों का भी निर्वाचन आयोग ने एलान कर दिया गया है। इन सभी सीटों पर 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे। इन 11 सीटों में रामपुर की भी सीट शामिल है जहां से समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान अब सांसद बन चुके हैं। आजम खान के इस्तीफे के बाद ये सीट खाली हुई है।


रामपुर में होने वाले उपचुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी को अब यह भय सता रहा है कि कहीं प्रशासनिक अमला आजम खान के खिलाफ साजिश करके चुनाव में जानबूझकर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को हरा दे, यही वजह है कि समाजवादी पार्टी का एक डेलिगेशन रविवार को यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मिला और उनसे रामपुर के डीएम और एसएसपी को हटाने की मांग की। समाजवादी पार्टी के नेताओं का कहना है कि जब तक रामपुर में मौजूदा डीएम और एसएसपी तैनात रहेंगे तब तक वहां निष्पक्ष चुनाव नहीं हो पाएंगे। निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए यह जरूरी है कि रामपुर में तैनात डीएम और एसएसपी को तत्काल वहां से हटाया जाए।



समाजवादी पार्टी के डेलिगेशन ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला को ज्ञापन भी सौंपा। ज्ञापन में समाजवादी पार्टी ने मांग की है कि रामपुर में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए वहां तैनात डीएम और एसएसपी को तत्काल हटाया जाए। क्योंकि, वहां के दोनों अफसर किसी के इशारे पर आजम खान के खिलाफ जानबूझकर मुकदमे लाद रहे हैं। नेता विपक्ष रामगोविंद चौधरी, विधान परिषद में समाजवादी पार्टी के नेता अहमद हसन और राजेंद्र चौधरी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मुलाकात की।