अवैध खनन मामले में सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, बसपा के पूर्व एमएलसी इकबाल के आवास पर मारा छापा

अवैध खनन मामले में सीबीआई ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में 11 स्थानों पर छापेमारी की है। सहारनपुर में पट्टों के आवंटन के मामले में नयई प्राथमिकी दर्ज की है जिसके बाद ये छापेमारी की गई है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 01 Oct 2019 04:22 PM
CBI conducts searches at 11 locations over sand mining scam in UP

सहारनपुर, एबीपी गंगा। अवैध खनन मामले में मंगलवार को सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई की है। सहारनपुर और लखनऊ समेत सीबीआई की टीम ने कुल 11 स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई की है। सीबीआई ने यह कार्रवाई सहारनपुर में खनन के पट्टों के आवंटन में कथित अनियमितताओं से संबंधित मामले में की है।


सहारनपुर में सीबीआई की टीम ने पूर्व बसपा एमएलसी व खनन माफिया इकबाल के आवास पर छापेमारी की है। इसके अलावा उनके मिर्जापुर स्थित आवास पर सीबीआई की टीम ने भी छापेमारी की। मिर्जापुर के अलावा लखनऊ और देहरादून में भी छापेमारी की कार्रवाई की गई है।





सीबीआई दो सालों से खनन घोटाले की परतें खंगाल रही है। 2016 के इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने जांच को अपने हाथ में लिया। सीबीआई ने जांच में पाया कि माइनिंग के टेंडर देने में नियमों और दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया गया है, टेंडर गलत तरीके से उन लोगों को दिए गए जो सत्तारूढ़ पक्ष के करीब थे।


cbi


सीबीआई ने प्रारंभिक जांच के बाद हमीरपुर में हुई धांधली के मामले में आरोपीतत्कालीन डीएम हमीरपुर बी.चंद्रकला व अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया था, जिसके बाद सीबीआई ने सहारनपुर, फतेहपुर व देवरिया समेत चार जिलों में अवैध खनन के मामलों में अलग-अलग केस दर्ज किए थे।


cbiraid



गौरतलब है कि, इसी साल जून महीने में माइनिंग केस में सीबीआई ने अमेठी में गायत्री प्रजापति के आवास पर छापा मारा था। फिलहाल, गायत्री प्रजापति बलात्कार के आरोप में लखनऊ जेल में हैं। इसके बाद 10 जुलाई को सीबीआई अधिकारियों की एक टीम डीएम बुलंदशहर अभय सिंह और बी. चंद्रकला के आवास पर पहुची थी।