कानपुर से सामने आया लव जेहाद का मामला, मुस्लिम युवक ने खुद को हिन्दू बताकर दो लड़कियों को दिया झांसा

मुस्लिम युवक पीड़ित युवती को जाकिर नाइक के वीडियो दिखाता था, इसके साथ ही बगदादी के वीडियो दिखाकर इनके मन में भय पैदा करता था।

By: एबीपी गंगा | Updated: 27 May 2019 09:21 PM
love jihad case in kanpur

कानपुर, एबीपी गंगा। कानपुर से एक लव जेहाद का मामला सामने आया है। मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी में मैनेजर के पद पर तैनात एक मुस्लिम युवक ने मध्य प्रदेश में दो युवतियों को खुद को हिन्दू बताकर उनका शारीरिक शोषण किया। एक से शादी कर और फिर तलाक दे दिया वहीं दूसरी युवती से सगाई कर 5 साल तक शारीरिक शोषण करता रहा। दोनों युवतियों ने हिन्दूवादी संगठनों के साथ मिलकर एसपी पूर्वी से न्याय की गुहार लगाई है।


बताया गलत नाम


चकेरी थाना क्षेत्र स्थित जाजमऊ में रहने वाला दानिश अली एक मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी में मैनेजर है। दानिश पहले से ही शादीशुदा था, 2009 में दानिश अली मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में पोस्टेड था। होशंगाबाद में रहने वाली एक युवती ने फार्मा कंपनी से दवा मंगाई थी। तभी उसकी मुलाकात दानिश अली से हुई थी। दानिश ने युवती को अपना नाम जॉन सलूजा बताया थ जिसके बाद युवती से उसकी दोस्ती हो गई।


नहीं हुई कार्रवाई


दानिश ने युवती के सामने शादी का प्रस्ताव रखा। जब युवती शादी के लिए तैयार हो गई तो उसे कानपुर लाकर एक आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली थी। इसके बाद दानिश ने युवती को अपनी असलियत बताई कि वो मुसलमान है। दानिश ने अगले ही दिन युवती से निकाह कर लिया। दानिश युवती को कभी कानपुर तो कभी मध्य प्रदेश में रखता था। इसके साथ ही जब वो प्रेग्नेंट हुई तो उसका गर्भपात करा दिया। जब युवती ने इस बात का विरोध किया तो उसके मारपीट कर उसे तलाक देकर घर से बाहर निकाल दिया। पीड़िता ने इसकी शिकायत मध्य प्रदेश में महिला थाने और चकेरी थाने में की थी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।


सामने आई असलियत


इसके बाद दानिश ने 2014 में मध्य प्रदेश के इंदौर में रहने वाले एक होटल मैनेजर की बेटी से दोस्ती कर ली। होटल मैनेजर की बेटी को दानिश ने अपना नाम राज उपाध्यक्ष बताया था। दानिश ने 2016 में युवती से सगाई कर ली और तब से शादी का झांसा देकर लगातार शोषण करता रहा। दानिश की हकीकत उस वक्त सामने आ गई जब युवती ने उसके बैग से उसका आइडेंटी कार्ड देखा जिसमे उसका असली नाम दानिश अली लिखा था। जब युवती ने उससे उसकी असलियत पूछी तो उसने बताया कि वो मेरठ का रहने वाला है और पापा हिन्दू ब्राह्मण हैं और मां मुस्लिम है,. लेकिन मेरे पिता हिन्दू धर्म को मानते हैं।


दिखाता था वीडियो


मामले में पीड़ित युवती ने बताया है कि आरोपी मुस्लिम युवक ने कई अन्य लड़कियों को भी अपना शिकार बनाया है। पीड़ित का आरोप है कि चकेरी पुलिस मामला दर्ज करने के बाद भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर रही है। मुस्लिम युवक पीड़ित युवती को जाकिर नाइक के वीडियो दिखाता था, इसके साथ ही बगदादी के वीडियो दिखाकर इनके मन में भय पैदा करता था। मुस्लिम युवक दानिश पर यह भी आरोप है कि वह इस्लाम धर्म अपनाने के लिए दबाव डालता था।



होगी कार्रवाई


एसपी पूर्वी राजकुमार के मुताबिक ये दो अलग-अलग मामले हैं। एक पीड़िता ने चकेरी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है जो 420 समेत अन्य धाराओं का है. जिसमें दानिश अली और उसके परिवार के लोग नामजद हैं, इसमें जो प्रतिवादी पक्ष है वो हाई कोर्ट में पेश हुआ था। हाई कोर्ट ने मेडीयेशन के लिए भेजा था। वहीं दूसरे मामले में पीड़िता ने दानिश अली उर्फ़ जॉन सलूजा उर्फ़ राज उपाध्याय पर इंदौर जनपद के राजेंद्र नगर थाने में एक 376 का मुकदमा पंजीकृत कराया है। उसकी हुकुम तहरीर वहां के थानाध्यक्ष ने चकेरी थानाध्यक्ष को भेजने के लिए कहा है। जैसे ही हुकुम तहरीर प्राप्त होगी पुलिस आवश्यक विधिक कार्रवाई करेगी।