फ्रॉड से बचने के लिए बैंक ट्रांजेक्शन के दौरान इन बातों का रखें विशेष ध्यान

फ्रॉड से बचने के लिए बैंक ट्रांजेक्शन के दौरान कुछ बातों का विशेष ध्यान देने की जरूरत है। ये कौन-कौन से जरूरी बातें हैं, जिनका बैंक ट्रांजेक्शन के दौरान ध्यान रखना चाहिए। ये जानने के लिए पढ़ें ये पूरी खबर।

By: एबीपी गंगा | Updated: 11 Oct 2019 11:07 AM
Tips to keep in mind while doing bank transaction or online transaction

नई दिल्ली, एबीपी गंगा। बैंकिंग टेक्नोलॉजी की वजह से जितना पैसों का लेनदेन आसान हो गया है, उतने ही फ्रॉड के केस भी बढ़ गए हैं। 3-4 बटन के क्लिक से आप आसानी से पैसों को इधर से उधर भेज सकते हैं, लेकिन इसके लिए बेहद जरूरी है कि आप इन सुविधाओं का इस्तेमाल जरा सतर्कता से करें, ताकि किसी फ्रॉड के लपेटे में न आ सकें। बैंक ट्रांजेक्शन में फ्रॉड से बचने के लिए हम आपको कुछ टिप्स देने जा रहे हैं, ताकि ये आसान तरीका आपके लिए सिरदर्द न बन सकें।



बैंक ट्रांजेक्शन में फ्रॉड से बचने के टिप्स


पहली टिप
हमेशा ऑनलाइन बैंकिंग सुरक्षित नेटवर्क से करें, यानी की नेट बैंकिंग पासवर्ड को याद कर लेना चाहिए और इसे कभी भी किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए, न ही कहीं पर लिखकर रखना चाहिए। इस बात का भी ध्यान रखें कि नेट बैंकिंग का इस्तेमाल आप केवल अपने सिक्योर नेटवर्क यानी अपने कंप्यूटर या लैपटॉप पर ही करें। जिसका सीधा मतलब है कि किसी और के लेपटॉप या असुरक्षित नेटवर्क से इंटरनेट बैंकिंग बिल्कुल न करें। कंप्यूटर कीबोर्ड का इस्तेमाल करने से बचें, उसकी जगह डिजिटल कीबोर्ड का इस्तेमाल करना ज्यादा बेहतर विकल्प है। सबसे बड़ी बात नेटबैंकिंग का इस्तेमाल करने के बाद अकाउंट को लॉग-आउट करना बिल्कुल न भूलें।


दूसरी टिप
चेकबुक का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। कभी भी चेकबुक में साइन किए हुए चेक न रखें। कभी भी किसी को भी बिना ब्योरा भरे साइंड चेक न दें।



तीसरी टिप
जरूरी है कि आप क्रेडिट और डेबिट कार्ड के लेनदेन का ब्योरा चेक करते रहें। इसके लिए SMS या फिर ईमेल को अलर्ट रखें, ताकि लेनदेन यानी ट्रांजेक्शन का नोटिफिकेशन आपको मिलता रहे। इससे आप अपने ट्रांजेक्शन को ट्रैक कर सकते हैं। जैसे ट्रांजेक्शन कहां से किया गया, कितने रुपये का ट्रांजेक्शन हुआ आदि।


online transition


चौथी टिप
अगर आपको ये संदेह है कि आपके साथ फ्रॉड हुआ है, तो एक हफ्ते के भीतर इसकी जानकारी बैंक को देनी चाहिए। कार्ड ब्लॉक हो जाने के बाद लिखित में भी इसकी शिकायत औपचारिक रूप से बैंक को करनी चाहिए। साथ ही, पुलिस में भी शिकायत करें। इसके अलावा एक शिकायत साइबर क्राइम सेल भी भेज सकते हैं।


इनपर ध्यान देना बेहद जरूरी




  • इंटरनेट ब्राउजर में पासवर्ड सेव बिल्कुल न करें।

  • नेटबैंकिंग के दौरान संदेहास्पद वेबसाइट और ऐप के इस्तेमाल से बचें।


यह भी पढ़ें:

क्रेडिट कार्ड यूजर्स भूलकर भी न करें ये 7 गलतियां, नहीं तो हो सकता है....

अटल पेंशन योजना: सिर्फ 38 रुपये रोज जमा कर पाएं 10 हजार रुपये महीने की पेंशन