बैंक से ज्यादा रिटर्न मिलता है पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाओं में, ये हैं खास फायदे

बैंकों से जुड़ी जानकारी ज्यादातर लोगों के पास होती है। लेकिन आम लोगों को कम ही पता होता है कि पोस्ट ऑफिस के बचत योजना में अधिक ब्याज दर पर ज्यादा रिटर्न मिलता है

By: एबीपी गंगा | Updated: 11 Oct 2019 11:37 AM
Saving scheme in Post office get more return

नई दिल्ली। पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाएं आपके निवेश पर ज्यादा रिटर्न देती हैं। बल्कि इस संस्थान से ज्यादा रिटर्न आपको अन्य को कोई संस्थान नहीं दे सकता। इसके अलावा एक विकल्प एफडी है। बैंक इस पर रिटर्न अच्छा देता है।


पोस्ट ऑफिस की किसान विकास पत्र योजना एक ऐसी ही योजना है। ये आपके निवेश को दोगुना करती है। उदाहरण के लिये, मान लीजिये आप पांच हजार या इससे ज्यादा किसान विकास पत्र में लगाते हैं तो आपको 7.6 फीसदी की दर से 113 महीने (9 साल व पांच महीने) में 10,000 रुपये निश्चित मिलते हैं। ठीक यही धनराशि आप एसबीआई के फिक्सड डिपॉजिट में लगाते हैं, तो 113 महीने में मात्र 8,965 रुपये मिलते हैं। इसी तरह एसबीआई के ऑनलाइन कैलकुलेटर के मुताबिक गणना करने पर 10,000 निवेश करने पर 1,79,31 रुपये मिलते हैं, और इतनी ही समयावधि पर एक लाख रुपये पर 1,79,398 रुपये मिलते हैं। मौजूदा दौर की बात की जाये तो एसबीआई पांच से दस साल के जमा पर 6.25 की दर से ब्याज देती है।


एचडीएफसी बैंक के फिक्सड डिपॉजिट में 5 हजार के निवेश पर 9,526 रुपये 113 महीने में मिलते हैं। 10 हजार पर 19,049 मिलते हैं और एक लाख पर 190,490 रुपये मिलते हैं।


किसान विकास पत्र की खास बातें


-इसके तहत आप न्यूनतम धनराशि एक हजार रुपये तक निवेश कर सकते हैं। यहां कोई उच्चतम सीमा नहीं है। इसके अनुसार 'किसान विकास पत्र' कोई भी व्यस्क अपने लिये या फिर किसी नाबालिग के प्रतिनिधि के तौर पर किसी भी पोस्ट ऑफिस से ले सकता है।


दो व्यस्क संयुक्त रूप से केवीपी ले सकते हैं। इस योजना में नामांकन की भी सुविधा होती है। यह एक शख्स से दूसरे के लिये ट्रासफर किया जा सकता है, एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रासफर किया जा सकता है। केवीपी में 2.5 साल के भीतर अपना पैसे ले सकते हैं।


पोस्ट ऑफिस की अन्य बचत योजनाओं में टाइम डिपॉजिट, पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना, राष्ट्रीय बचत पत्र जैसी योजनाएं हैं, जिन पर अच्छी ब्याज दर मिलती है।