'वायु' ने बदला रास्ता, गुजरात तट से नहीं टकराएगा; भारी बारिश का अनुमान

चक्रवात तूफान वायु गुजरात तट से अब नहीं टकराएगा। एहतियात के तौर पर तूफान को देखते हुए तीन लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया था।

By: एबीपी गंगा | Updated: 13 Jun 2019 12:09 PM
cyclone vayu to hit gujarat three lakh people evacuated

नई दिल्ली, एबीपी गंगा। चक्रवाती तूफान वायु अब गुजरात के तट से नहीं टकराएगा। मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान ने अपनी दिशा बदल ली है। इससे पहले वायु के गुजरात के तटों से टकराने की आशंका जताई गई थी। एहतियात के तौर पर सेना और एनडीआरएफ की टीम ने करीब तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। थल सेना, वायु सेना और तटरक्षक दल को तैयार भी रखा गया है। इसके साथ ही कई ट्रेनों और हवाई यातायात को रद्द किया गया है। वहीं सरकार ने गुजरात के 10 जिलों में गुरुवार और शुक्रवार को स्कूल बंद रखने का आदेश दिया है। पूरे हालात पर केंद्र सरकार भी नजर बनाए हुए हैं। मौसम विभाग की माने तो समुद्र तट से करीब 10 किलोमीटर के इलाके में तूफान का सबसे ज्यादा असर रहेगा। विभाग ने आशंका जताई है कि जब ये तूफान गुजरात से टकराएगा तो इसकी रफ्तार 150 से 180 किलोमीटर प्रति घंटे तक होगी।


इससे पहले बुधवार को राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कैबिनेट की बैठक बुलाई। बैठक में सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। इसके साथ ही पर्यटकों से किसी सुरक्षित जगह पर जाने के लिए कहा गया है। इसके अलावा, राज्य में समुद्र में मछली पकड़ने पर भी रोक लगा दी गई है। बंदरगाहों के लिए भी चेतावनी जारी की गई है। चक्रवात से निपटने के लिए वलसाड, गिर सोमनाथ, देवभूमि द्वारका, जामनगर, मांगरोल, पोरबंदर , कच्छ और अमरेली जिलों के तटीय क्षेत्रों में विशेष तैयारी की गई है।


महाराष्ट्र में तूफान के चलते समुद्र में ज्वार भाटा की आशंका जताई गई है। जिसके चलते कोंकण क्षेत्र में सभी बीच को जनता के लिए बंद कर दिया गया है।


सरकार के आदेश के बाद तूफान प्रभावित इलाकों में लोगों के लिए राजकोट में फूड पैकेट तैयार किए जा रहे हैं।