आग से धधक रही मां मनसा देवी मंदिर की पहाड़ी, आंखें मूंदे बैठा वन विभाग

हरिद्वार स्थित मां मनसा देवी मंदिर की पहाड़ी आग से धधक रही है, लेकिन इस ओर वन विभाग का कोई ध्यान नहीं है। गर्मियों के सीजन में आए दिन इस पहाड़ी पर आग लगती है। जिससे वन संपदा को नुकसान तो पक्षियों को भी परेशानी उठानी पड़ रही है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 11 May 2019 10:59 AM
Maa mansa devi temple mountain burning in haridwar

हरिद्वार, एबीपी गंगा। हरिद्वार के शहर कोतवाली क्षेत्र में स्थित मां मनसा देवी मंदिर की पहाड़ियों में देर रात अचानक आग लग गई। शिवालिक पर्वत की पहाड़ियों पर आग लगने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। संबंधित विभाग पहाड़ियों में लगी भयंकर आग के बाद भी बेपरवाह नजर आ रहा है। वन विभाग की टीम आग बुझाने मौके पर नहीं पहुंची। ऐसा नहीं है इस पहाड़ी पर पहले भी आग नहीं लगती आई है, गर्मियों के सीजन में आए दिन इस पहाड़ी पर आग लगती है। आग लगने की वजह से काफी तादाद में वन संपदा जलकर राख हो जाती है


पहाड़ियों में लगातार फैल रही आग कोई आम बात नहीं है, अक्सर गर्मियों के मौसम में इन तरह पहाड़ियों में आग लग जाती हैं। हालांकि, पहाड़ियों में आग लगना वन विभाग और राजाजी टाइगर रिजर्व के अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करती हैं। अक्सर देखने में आया है कि जंगल मे लकड़ी चुगने जाने वाले लोग आग लगा देते हैं, लेकिन कड़ी सुरक्षा व्यवस्थाओं के बाद पहाड़ियों में आग लगना अपने आप में कई सवाल खड़े करता है। पहाड़ियों में आग से न केवल जंगली जानवरों के लिए खतरा बढ़ जाता है, जबकि आसमानी परिंदे भी इसकी चपेट में आ जाते हैं।



पहाड़ी पर आग लगना गंभीर मामला है, मगर वन विभाग इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है। इस क्षेत्र में वन विभाग के तीन बैरियर पढ़ते हैं। जिसमें वन विभाग के कर्मचारी भी मौजूद रहते हैं। मगर उनको भी यह आग दिखाई नहीं दे रही है। आज देर रात से ही इस पहाड़ी पर आग लगी है, जो बढ़ती जा रही है। मगर वन विभाग के कर्मचारी आग को बुझाने नहीं आए हैं। इससे लगता है वन विभाग की करनी और कथनी में कितना अंतर है। इस आग को जल्द से जल्द बुझाना नहीं गया तो जंगली जानवरों को भी नुकसान पहुंच सकता है और वन संपदा भी नष्ट हो सकती है।