हरिद्वार में खनन माफिया का बोलबाला, नदी का सीन चीर कर रहे हैं मोटी कमाई 

पुलिस ने प्राइवेट गाड़ियों से घेराबंदी करते हुए अवैध खनन के खिलाफ देर रात छापेमारी की है और खनन सामग्री से लदे तीन वाहन व एक जेसीबी को लक्सर कोतवाली ले जाकर सीज कर दिया।

By: एबीपी गंगा | Updated: 12 May 2019 10:09 PM
Illegal mining in haridwar

हरिद्वार, एबीपी गंगा। हरिद्वार के लक्सर कोतवाली क्षेत्र की बाणगंगा नदी में अवैध खनन का काला कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। रात-दिन खनन माफिया गंगा नदी का सीना चीर कर मोटी आमदनी कम कर रहे हैं। आपको बता दें लक्सर कोतवाली क्षेत्र की बाणगंगा नदी से सटे नेहन्दपुर अलावलपुर झिवरेडी क्षेत्रों में अवैध खनन का पूरा बोल-बाला है। शाम ढलते ही खनन माफिया सक्रिय हो जाते हैं और अवैध खनन शुरू हो जाता है।


खनन माफियाओं ने अपने फिल्डर भी खनन क्षेत्र में उतार रखे हैं जो प्रशासन के आने से लेकर जाने तक की पल-पल की खबर खनन माफियाओं तक पहुंचाते हैं। जिसका खनन माफिया पूरा फायदा उठाते हैं। किसी भी परिस्थिति में खनन माफियाओं को सूचना मिल जाती है और वे प्रशासन के आने पर सक्रिय हो जाते हैं।


देर रात पुलिस ने प्राइवेट गाड़ियों से घेराबंदी करते हुए अवैध खनन के खिलाफ देर रात छापेमारी की है और खनन सामग्री से लदे तीन वाहन व एक जेसीबी को लक्सर कोतवाली ले जाकर सीज कर दिया। मौके से खनन माफिया और कुछ वाहन पुलिस को आता देख फरार हो गए।


लक्सर कोतवाल वीरेंद्र नेगी का कहना है कि देर रात मुखबिर की सूचना पर अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई की है जिसमें अवैध खनन से लदे तीन वाहन और एक जेसीबी को कोतवाली लाकर सीज कर दिया गया है और संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।