राम मंदिर निर्माण और महाकुंभ 2021 को लेकर हरिद्वार में अखाड़ा परिषद की अहम बैठक कल

राम मंदिर निर्माण और 2021 में होने वाले महाकुंभ को लेकर कल हरिद्वार में अखाड़ा परिषद की अहम बैठक है। बता दें कि डेढ़ साल बाद हरिद्वार में कुंभ है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 14 Jun 2019 01:07 PM
Akhara Parishad Important meeting in Haridwar on Ayodhya Ram temple construction and Maha kumbh 2021

हरिद्वार, एबीपी गंगा। अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर साधू संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद कल उत्तराखंड के हरिद्वार में एक अहम बैठक करने जा रहा है। इस बैठक में सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। बैठक में राम मंदिर निर्माण पर कोई अहम फैसला लिए जाने की उम्मीद है।


बैठक में राम मंदिर के साथ ही हरिद्वार में डेढ़ साल बाद लगने जा रहे कुंभ मेले की तैयारियों पर भी चर्चा की जाएगी। अखाड़ा परिषद के पदाधिकारी 16 जून को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ बैठक भी करेंगे। बैठक में कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा होनी है। अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष महंत देवेंद्र शास्त्री के मुताबिक, राम मंदिर को लेकर साधू संतों का धैर्य अब जवाब देने लगा है। ऐसे में संत या तो अल्टीमेटम दे सकते हैं या फिर सीधे तौर पर कोई ठोस एलान कर सकते हैं।


डेढ़ साल बाद हरिद्वार में होगा कुंभ


राम मंदिर निर्माण के अलावा साधु संत हरिद्वार में होने वाले कुंभ को लेकर भी चर्चा करेंगे। इस पर श्रीमहंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि सभी 13 अखाड़े भारतीय सनातन परंपराओं के वाहक हैं, यहीं वजह है कि सभी अखाड़ों को साथ लेकर महाकुंभ और अर्द्धकुंभ को संपन्न किया जाता है। उनका कहना है कि साधु-संत तो कुंभ की तैयारियों में अभी से जुट गए हैं, लेकिन सरकार की ओर से कोई तैयारी नहीं दिख रही है। उन्होंने बताया कि अगले साल अक्तूबर से संत हरिद्वार पहुंचने लगेंगे। ये मांग की जा रही है कि नासिक, उज्जैन और प्रयागराज की तर्ज पर उत्तराखंड सरकार 2021 में होने वाले महाकुंभ के लिए भी स्थाई निर्माण कराए। इन्हीं सब को लेकर साधु-संतों की कल मुख्यमंत्री से भी मिलेंगे।