इस Drink को पीने खिंचे आते हैं लोग, गर्मी ही नहीं सर्दी में भी दिमाग को मिलता है सुकून

दिल ही नहीं, दिमाग को सुकून और तरोताजा करने वाली मसालेदार शिकंजी का स्वाद ही कुछ ऐसा होता है जो हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींचता है। खासकर, गर्मी के मौसम में ठंडी शिकंजी तरोताजा कर देती है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 08 Jul 2019 06:34 PM
Famous Special Masala shikanji in lucknow

लखनऊ, एबीपी गंगा। गर्मी के मौसम में तरोताजा होने के लिए शीतल पेय से बेहतर भला क्या हो सकता है। लेकिन ये पेय अगर शिकंजी हो, तो गर्मी का छू-मंतर होना तय है। दुकान पर लगी भीड़ के बीच हर तरफ से आती एक ही आवाज सुनाई देती है। 'भैया जरा एक सोडा शिकंजी देना', 'मेरे लिए भी नींबू वाली। इस दुकान में एक के बाद एक आने वाले ग्राहकों की लाइन लगी रहती है। गर्मी ही नहीं यहां तो लोग सर्दी में भी शिकंजी का मजा लेने आते हैं।


फेसम है शिकंजी


दिल ही नहीं, दिमाग को सुकून और तरोताजा करने वाली मसालेदार शिकंजी का स्वाद ही कुछ ऐसा होता है जो हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींचता है। खासकर, गर्मी के मौसम में ठंडी शिकंजी तरोताजा कर देती है। गर्मी के मौसम में गला तर करने के साथ ही जुबान को स्वाद देने के लिए शिकंजी बेहतर विकल्प है। कोल्ड ड्रिंक के मुकाबले शिकंजी सेहत के लिए भी मुफीद होती है। तो चलिए आपको भी उस दुकान पर लिए चलते हैं जहां आने वाले शौकीनों की कोई कमी नहीं है।


छोटी सी दुकान और बड़ा नाम


केडी सिंह बाबू स्टेडियम स्थित भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा के पास 'शिकंजी वाला हॉट एंड कूल कॉर्नर' पर स्वाद के शौकीनों की भीड़ देर रात तक देखी जा सकती है। छोटी सी इस दुकान पर शहर के हर वर्ग के लोग शिकंजी पीने आते हैं। 30 साल पहले शुरू हुई इस दुकान की मसालेदार शिकंजी का स्वाद लोगों को इतना पसंद आया कि दूर-दूर से लोग यहां शिकंजी पीने आने लगे। घर पर तैयार किया गया मसाला ही इसकी खासियत है। यहां मैंगो, ऑरेंज, लीची, पाइन एप्पल जैसे फ्लेवर भी लोग पसंद करते हैं।



हर बात का रखते हैं ख्याल


सोडा शिकंजी के अलावा मसाला कोला, मसाला ऑरेंज, मसाला लिम्का, मसाला स्प्राइट, स्ट्राबेरी शिकंजी, पाइन एप्पल, मैंगो शिकंजी, लीची शिकंजी, ब्लैक करंट शिकंजी, पल्प ऑरेंज शिकंजी, काला खट्टा शिकंजी, खस शिकंजी, मसाला कॉकटेल, चॉकलेट शिकंजी, स्पेशल त्रिदेव जैसे कई फ्लेवर हैं जो शौकीनों को पसंद आते हैं। इनमें से कुछ घर पर तैयार होते हैं तो कुछ बाजार से लाते हैं। किसी भी शिकंजी का स्वाद 35 रुपये से 50 रुपये में लिया जा सकता है।


80 साल पुरानी है दुकान


अब चलिए आपके पाटानाला चौक स्थित मंदू भाई शरबत वाले की दुकान पर लिए चलते हैं जहां की खास बात यह है कि करीब 45 प्रकार की अलग-अलग स्वाद वाली शिकंजी के कुछ फ्लेवर दुकान मालिक खुद तैयार करते हैं, जिनमें उनको परिवार का भी सहयोग मिलता है। वह कहते हैं। 80 साल पुरानी इस दुकान के लोग आज भी दीवाने हैं।



शुगर फ्री शिकंजी है खास


दुकान मालिक मंदू कहते हैं, शिकंजी के स्वाद के शौकीन डायबिटीज के मरीजों के लिए शुगर फ्री गिलास, शुगर फ्री सोडा गिलास खासतौर से तैयार करते हैं। वहीं, नींबू की शिकंजी, नींबू सोडा, पुदीना, पुदीना सोडा, खस, आम पना, ग्रीन एप्पल, ग्रीन एप्पल सोडा, शाही पान, जाफरान, शरबते फिजा, संदल, संदल सोडा, काला खट्टा, रोज, कीवी, ब्लैक करंट, लीची, पाइन एप्पल, स्ट्राबेरी, मैंगो, शाही बादाम, पिस्ता बादाम, केसर बादाम, मुखर्रा जैसे करीब 45 फ्लेवर हैं। इनमें सबसे ज्यादा नींबू शिकंजी लोग पसंद करते हैं। इन जायकों का स्वाद 17 रुपये से 40 रुपये में लिया जा सकता है। गुलाब के फूल और संतरे के अर्क से तैयार मुखर्रा भी लोगों को खूब भाता है।