इटावा में जल्द खुलेगा पासपोर्ट केंद्र, प्रधान डाकघर में जमीन तलाशने का काम शुरू

पासपोर्ट केंद्र खुल जाने के बाद इटावा व उसके आसपास के रहने वाले लोगों को कानपुर केंद्र पर नहीं जाना होगा। उनका आवेदन व डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन यहीं से हो जायेगा उसके बाद लखनऊ पासपोर्ट सेवा केंद्र उनके पते पर पासपोर्ट भेज देगा।

By: एबीपी गंगा | Updated: 14 Jun 2019 06:12 PM
soon passport center will open in etawah

इटावा, एबीपी गंगा। इटावा में पासपोर्ट केंद्र खोलने की कवायद शुरू कर दी गई है। प्रधान डाकघर से लखनऊ के पासपोर्ट सेवा केंद्र द्वारा जमीन का प्रस्ताव मांगा गया है। मोदी सरकार की हर लोकसभा क्षेत्र में एक पासपोर्ट केंद्र खोलने की नीति के तहत यह कवायद शुरू की गई है। जल्द ही पासपोर्ट सेवा केंद्र की एक टीम यहां पर आकर सर्वे करेगी और इसके बाद अपनी रिपोर्ट लखनऊ केंद्र को देगी। माना जा रहा है कि जमीन फाइनल होने के बाद छह माह के अंदर पासपोर्ट केंद्र यहां पर खुल जाएगा।


जमीन तलाशने काम  शुरू


इटावा जनपद लखनऊ जोन के पासपोर्ट सेवा केंद्र के अंतर्गत आता है। बीते दिनों केंद्र के सीनियर वरिष्ठ अधीक्षक संदीप कुमार शुक्ला ने प्रधान डाकघर के अधीक्षक मनोज कुमार से जमीन उपलब्ध कराने को कहा है। पासपोर्ट केंद्र खुलने के लिए कम से कम 300 स्क्वायर फीट जगह होनी चाहिए इसके साथ-साथ कार्यालय खोलने के लिए जो मूलभूत सुविधाएं होती हैं वह मुहैया होनी चाहिए। अधिकारियों के मुताबिक भवन का कार्य पूरा हो जाने के बाद दो माह के अंदर केंद्र खोल दिया जायेगा। प्रधान डाकघर में जमीन तलाशने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।


मोदी सरकार ने बनाई थी नीति


मोदी सरकार ने हवाई यात्रा को बढ़ावा देने के लिए देश के प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में पासपोर्ट केंद्र खोलने की योजना बनाई थी जिसके तहत यह केंद्र खोले जा रहे हैं। इटावा लोकसभा क्षेत्र में भी एक केंद्र खोला जाना है। केंद्र के लिए प्रधान डाकघरों का चयन सबसे पहले किया गया। यहां पर भूमि की उपलब्धता तलाशी जा रही है।


प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जायेगा


पासपोर्ट केंद्र खुल जाने के बाद इटावा व उसके आसपास के रहने वाले लोगों को कानपुर केंद्र पर नहीं जाना होगा। उनका आवेदन व डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन यहीं से हो जायेगा उसके बाद लखनऊ पासपोर्ट सेवा केंद्र उनके पते पर पासपोर्ट भेज देगा। पासपोर्ट केंद्र के लिए कवायद शुरू कर दी गई है। मुख्य डाकघर में 300 स्क्वायर फीट जगह का चयन किया जा रहा है। जल्द ही केंद्र के लिए प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जायेगा।