जिस घर में रहते थे मोहम्मद रफ़ी, उसी घर पर लटकी है क़ानून की तलवार

मुंबई के बांद्रा में स्थित मोहम्मद रफ़ी जी का घर खतरे में है। बेटे शाहिद का कहना है कि कंपनी ने जितने पैसे देने के लिए कहा था उतने नहीं दिए है।

By: कोमल गौतम | Updated: 12 Oct 2019 06:54 PM
Mohammed Rafi home in danger zone

मुंबई, एंटरटेनमेंट डेस्क। मुंबई के बांद्रा में साल 1970 में बना रफी मैशन्स खतरे में है। ये वही बंगला है जिसमें मोहम्मद रफी साहब रहा करते थे। उनके बेटे शाहिद ने भावुक होकर बताया कि उनके नाम पर ये इकलौता घर बया है। इस घर के साथ मोहम्मद रफ़ी जी की काफी सारी यादें जुड़ी हुई हैं।


मोहम्मद रफी के बेटे शाहिद रफी ने अपने पुश्तैनी घर को बचाने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं। मुंबई मिरर की एक रिपोर्ट के मुताबिक HDFC बैंक ने टॉप फ्लोर पर फ्लैट पर कब्जा करने की मांग की है। बैंक वालो ने कहा कि, मोहम्मद रफी के बेटे शाहिद ने निंबस इंडस्ट्रीज नाम की कंपनी के साथ फ्लैट बेचने की डील की थी।


वहीं बैंक का दावा है कि निंबस से समझौते में उन्हें सिर्फ 1.95 करोड़ रुपये मिले जबकि समझौते में 3.16 करोड़ रुपये का जिक्र है। निंबस इंडस्ट्रीज पैसे वापस नहीं कर पाई तो बैंक ने कोर्ट में संपत्ति पर दावा ठोंका है।


शाहिद का कहना है कि उन्होंने प्रॉपर्टी बेची नहीं थी बल्कि कुछ वक्त के लिए समझौता किया था। शाहिद का कहना है कि कंपनी ने जितने पैसे देने के लिए कहा था उतने दिए ही नहीं। शाहिद ने कोर्ट से भी इस मामले में मदद मांगी लेकिन कोर्ट ने फिलहाल ये कहते हुए किसी भी तरह की मदद करने से इनकार कर दिया।