'देसी गर्ल' के सपोर्ट में आईं 'क्वीन', पाकिस्तानी महिला को दिए जवाब को लेकर हो रही है वाहवाही

पाकिस्तानी महिला विवाद मामले में कंगना रनौत ने प्रियंका चोपड़ा का बचाव किया है। दरअसल, पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने यूनीसेफ को खत लिखकर उन्हें यूएन की गुडविल एंबेसडर पद से हटाने की मांग की है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 22 Aug 2019 02:24 PM
Kangana ranaut supports priyanka chopra over pakistan women question and unicef goodwill ambassador controversy

नई दिल्ली, एबीपी गंगा। पाकिस्तानी महिला विवाद मामले में बॉलीवुड की 'देसी गर्ल' प्रियंका चोपड़ा को 'क्वीन' कंगना रनौत का साथ मिला है। कंगना उनके सपोर्ट में उतरी हैं और कहा है कि जब आप अपनी ड्यूटी और इमोशन के बीच फंस जाते हो, तो किसी एक का चुनान करना ठीक हो जाता है।


कंगना रनौत ने इस इंटरव्यू के दौरान प्रियंका को यूनिसेफ की गुडविल एम्बेसडर के पद से हटाए जाने की मांग पर कहा, 'आप भले ही यूनिसेफ की गुडविल एम्बेसडर के तौर पर अपने आपको एक देश तक सीमित नहीं रख सकते हैं, लेकिन हम से कितने लोग है, जो दिमाग की बजाय दिल की सुनते हैं।?


गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है। इसी तिलमिलालट में अब पाकिस्तान ने यूनीसेफ को खत लिखकर प्रियंका चोपड़ा से गुडविल एम्बेसडर का पद लेने की मांग की है। दरअसल, एक इवेंट के दौरान पाकिस्तान की एक महिला ने प्रियंका से सवाल पूछा था, जिसका प्रियंका ने बहुत ही सहज तरीके से जवाब दिया था। इनके इस जवाब की काफी तारीफ हो रही हैं।






हाल ही में, 'ब्यूटीकॉन फेस्टिवल लॉस एंजेलिस 2019 (Beautycon Festival Los Angeles 2019)' के इवेंट में प्रियंका चोपड़ा ने हिस्सा लिया था। इस दौरान पाकिस्तान की इस महिला ने उनपर भड़ास निकालते भारतीय सेना और न्यूक्लियर वॉर का जिक्र करते हुए सवाल पूछा। जिसके जवाब में प्रियंका ने कहा, 'मेरे पाकिस्तान में भी कई दोस्त हैं और मैं भारत से हूं। युद्ध एक ऐसी चीज है, जिसमें मैं बिल्कुल सपोर्ट नहीं करती हूं, हां...लेकिन मैं देशभक्त हूं। इसलिए अगर मुझसे प्यार करने वालों की भावनाओं को कोई ठेस पहुंची है, तो उसके लिए मैं माफी मांगती हूं। हालांकि, मुझे नहीं लगता हम सब एक जैसे हैं। हम सभी को एक बीच के रास्ते पर चलना होगा। ठीक उसी तरह, जैसे तुमने किया। जिस तरह से तुम अभी मेरे पास यहां आई हो।' इसके बाद वो महिला और भड़ास निकालना शुरू हुई, प्रियंका ने कहा कि शोर मत मचाइए, हम सब यहां प्यार के लिए आए हैं।



इसके बाद पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने यूनीसेफ को खत लिखकर उन्हें यूएन की गुडविल एंबेसडर पद से हटाने की मांग की है। शिरीन ने अपने खत में लिखा कि सार्वजनिक तौर से प्रियंका चोपड़ा ने भारत सरकार की कश्मीर नीतियों का समर्थन किया है। इतना ही नहीं, उन्होंने परमाणु हमले की धमकी का समर्थन किया है। यह सब पूरी तरह से शांति और सद्भावना के सिद्धांतों के खिलाफ है। प्रियंका को शांत और सद्भावना बनाए रखने के लिए प्रियंका चोपड़ा को यूएन की गुडविल एंबेसडर नियुक्त किया गया है।


यह भी पढ़ें:


प्रियंका चोपड़ा ने बताई पति निक जोनस की कमजोरी, सुबह उठते ही करते हैं ये काम

महिलाओं को लेकर देसी गर्ल ने कही बड़ी बात, बोलीं- अवसरों की कमी ने एक-दूसरे के खिलाफ किया खड़ा

प्रियंका चोपड़ा ने जेठानी संग बिकनी में पानी में लगाई आग, देखें Hot Photos