पीएम नरेंद्र मोदी का बड़ा फैसला, नीति आयोग के पुनर्गठन को दी मंजूरी, 15 जून को होगी बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीति आयोग के पुनर्गठन को मंजूरी दे दी है। भारत सरकार के एक थिंक टैंक के रूप में नीति आयोग देश को महत्वपूर्ण जानकारी, नवीनता और उद्यमशीलता सहायता प्रदान करता है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 06 Jun 2019 08:58 PM
Prime Minister Narendra Modi approves the reconstitution of NITI Aayog

नई दिल्ली, एबीपी गंगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नीति आयोग के दोबारा गठन को मंजूरी दे दी। राजीव कुमार इसके उपाध्यक्ष बने रहेंगे। गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर इसके सदस्य होंगे। सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रेल मंत्री पीयूष गोयल, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत तथा सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह  इसके विशेष आमंत्रित सदस्य होंगे। इनके अलावा नीति आयोग पैनल के सदस्य वीके सारास्वत, रमेश चंद तथा वीके पॉल को भी फिर सरकार ने फिर से सदस्य बनाया है।



15 जून को होगी बैठक


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व  में15 जून नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक होगी। पीएम मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग गर्वनिंग काउंसिल की यह पांचवीं बैठक होगी। नीति आयोग ने बैठक में भाग लेने के लिए सभी मुख्यमंत्रियों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रमुखों को निमंत्रण भेजा है।


योजना आयोग के स्थान पर बना था नीति आयोग


नीति आयोग (राष्‍ट्रीय भारत परिवर्तन संस्‍थान) भारत सरकार द्वारा गठित एक नया संस्‍थान है जिसे योजना आयोग के स्‍थान पर बनाया गया है। 1 जनवरी 2015 को इस नए संस्‍थान के संबंध में जानकारी देने वाला मंत्रिमंडल का प्रस्‍ताव जारी किया गया। यह संस्‍थान सरकार के थिंक टैंक के रूप में सेवाएं प्रदान करता है। नीति आयोग, केन्‍द्र और राज्‍य स्‍तरों पर सरकार को नीति के प्रमुख कारकों के संबंध में प्रासंगिक महत्‍वपूर्ण एवं तकनीकी परामर्श उपलब्‍ध कराता है।