यूपी में ईवीएम को लेकर विपक्षी नेताओं का हंगामा, चुनाव आयोग ने खारिज किए आरोप

23 मई को लोकसभा चुनाव के परिणाम आएंगे, इससे पहले ईवीएम के मुद्दे पर विपक्षी दलों ने बवाल काटना शुरू कर दिया है। विपक्षी नेताओं ने यूपी में कई जगहों पर ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल उठाए हैं।

By: एबीपी गंगा | Updated: 21 May 2019 04:47 PM
Lok Sabha Election 2019 Congress and opposition parties EVM hacking allegation denied by election commission in Uttar pradesh

लखनऊ, एबीपी गंगा। लोकसभा चुनाव के नतीजे आने में दो दिन ही बचे हैं, ऐसे में विपक्षी दलों ने ईवीएम पर हंगामा शुरू कर दिया है। विपक्षी नेताओं ने यूपी में कई जगहों पर ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल उठाए हैं। सोमवार देर रात कांग्रेस और गठबंधन के प्रत्याशियों ने ईवीएम बदले जाने के आरोपों को लेकर जमकर बवाल भी किया।


प्रदेश के गाजीपुर, चंदौली, डुमरियागंज और झांसी में देर रात ईवीएम को लेकर जमकर बवाल हुआ। गाजीपुर और चंदौली में ईवीएम बदले जाने की अफवाह के बाद कांग्रेस और सपा कार्यकर्ता स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर पहुंच गए और धरना दिया। गाजीपुर से गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने भी ईवीएम की सुरक्षा को लेकर आरोप लगाए। बीती रात अफजाल अंसारी ने ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए गाजीपुर में स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर जमकर हंगामा किया। अफजाल अंसारी की पुलिस अधिकारी के साथ बहस भी हुई। इसके बाद वे बाहर धरने पर बैठ गए। देर रात उन्होंने अपना धरना खत्म किया।


चुनाव आयोग ने खारिज किए आरोप
वहीं ईवीएम पर उठ रहे सवालों के बीच यूपी मुख्य निर्वाचन अधिकारी टीएल वेंकटेश्वर लू ने जवाब दिया है। लू ने कहा कि ईवीएम पूरी तरह से सुरक्षित है और इसमें छेड़छाड़ की गुंजाइश ही नहीं है। लू ने आगे कहा, चुनाव आयोग ने गलतफहमी दूर कर दी है। और इससे सभी संतुष्ट हुए हैं। ईवीएम के लिए पर्याप्त सुरक्षा की गई है। इसको लेकर किसी भी तरह की भ्रांतियां फैलाना गलत है। सभी शिकायतें निराधार हैं।


इससे पहले चुनाव आयोग ने कहा कि गाजीपुर, चंदौली, डुमरियागंज और झांसी में ईवीएम को लेकर जो आरोप लगाए गए, वो सही नहीं हैं। जिन ईवीएम का मतदान में इस्तेमाल हुआ है वो पूरी तरह सुरक्षित हैं। वहीं, EVM मुद्दे पर झांसी जिला चुनाव अधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने कहा, 'कुछ पोलिंग पार्टियां देर रात यहां पहुंचीं, लेकिन सभी ईवीएम को सुबह 7 बजे तक स्ट्रांग रूम में रख दिया गया। सीसीटीवी निगरानी के तहत सामान्य पर्यवेक्षकों और उम्मीदवारों की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम को सील कर दिया गया है।'


EVM पर सवाल बोगस : नीतीश


वहीं, ईवीएम पर विपक्षी दलों के हंगामे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि ईवीएम पर सभी सवाल फर्जी (बोगस) हैं।ईवीएम के आने से ही चुनावों में पारदर्शिता आई है। इसकी तकनीक पर कई बार सवाल किए गए हैं और चुनाव आयोग द्वारा हर बार जवाब दिया गया है। चुनाव हारने वाला दल, हमेशा यही कहता है कि चुनाव में खामी है। ये नई बात नहीं है।