Exit Polls 2019: उत्तर प्रदेश की बड़ी सीटों का हाल, जानिये कौन कहां जीत रहा है

उत्तर प्रदेश की 22 प्रमुख सीटों का हाल देखिये। कौन कहां से जीत रहा है। एबीपी गंगा-नीलसन का सर्वे।

By: एबीपी गंगा | Updated: 21 May 2019 02:00 PM
Exit Poll of VIP Seat of Uttar pradesh win and loose

लखनऊ, एबीपी गंगा। लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद एग्जिट पोल की नतीजों में एनडीए सरकार बनने के रुझान सामने आये हैं। वहीं बात की जाये उत्तर प्रदेश की तो यहां पर गठबंधन और भाजपा के बीच सीधी ठक्कर दिखाई दी। सपा,बसपा और रालोद के मिल जाने से जातिगत समीकरण ने भाजपा को नुकसान तो पहुंचाया लेकिन उतना नहीं जिसका आंकलन किया जा रहा था। यूपी में भाजपा को 33 और गठबंधन को 45 सीटें मिलने का अनुमान है। कांग्रेस की हालत में कोई सुधार होता नहीं दिख रहा है। अब हम आपको राज्य की 22 प्रमुख सीटों का अनुमान बताने जा रहे हैं। किस सीट पर कौन सा दल जीत रहा है। आंकड़े इस प्रकार है।


पश्चिम उत्तर प्रदेश की बात करें तो राज्य के इस हिस्से में मुजफ्फरनगर की लड़ाई पर सभी की नजर है। एबीपी गंगा-नीलसन के सर्वे में इस इलाके से गठबंधन के उम्मीदवार राष्ट्रीय लोक दल के अजित सिंह जीत रहे हैं।भाजपा के संजीव बालियान यहां से हार रहे हैं।



रामपुर लोकसभा सीट पर गठबंधन और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर है। यहां पर जयाप्रदा(भाजपा) और आजम खान (सपा) के बीच दिलचस्प जंग है।



अमरोहा में गठबंधन के दानिश अली और भाजपा के बीच कड़ी टक्कर है। नतीजा किसी के पक्ष में भी जा सकता है।



बागपत में गठबंधन के जयंत चौधरी जीत रहे हैं। दूसरी तरफ भाजपा के सत्यपाल सिंह हार रहे हैं।



गाजियाबाद में भाजपा के उम्मीदवार वीके सिंह जीत रहे हैं। गठबंधन के सुरेश बंसल हार रहे हैं।


गौतमबुद्ध नगर में गठबंधन उम्मीदवार सतबीर नागर जीत रहे हैं, भाजपा के महेश शर्मा यहां से चुनाव हार रहे हैं।



मथुरा से फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी चुनाव जीत रही है, गठबंधन उम्मीदवार कुंवर नरेंद्र सिंह चुनाव हार रहे हैं।

फतेहपुर सीकरी में गठबंधन उम्मीदवार गुड्डू पंडित चुनाव हार रहे हैं, भाजपा के राजकुमार चहर जीत रहे हैं।

मैनपुरी में दिग्गज नेता मुलायम सिंह यादव जीत रहे हैं।

बदायूं से गठबंधन उम्मीदवार धर्मेंद्र यादव जीत रहे हैं। भाजपा की संघमित्रा मौर्य हार रही हैं।



बरेली से भाजपा के संतोष गंगवार जीत रहे हैं। भगवत शरण गंगवार गठबंधन के उम्मीदवार हार रहे हैं।

पीलीभीत से भाजपा के वरुण गांधी जीत रहे हैं। गठबंधन उम्मीदवार हेमराज वर्मा हार रहे हैं।


उन्नाव से भाजपा के साक्षी महाराज जीत रहे हैं। गठबंधन उम्मीदवार पूजा पाल यहां से हार रही हैं।


लखनऊ से भाजपा के राजनाथ सिंह जी रहे हैं। कांग्रेस से आचार्य प्रमोद कृष्णम हार रहे हैं।



रायबरेली से सोनिया गांधी जीत रही हैं। भाजपा के दिनेश सिंह हार रहे हैं।



अमेठी की बात करें तो इस सीट से राहुल गांधी जीत रहे हैं। भाजपा की स्मृति ईरानी यहां से हार रही हैं।



सुल्तानपुर में मेनका गांधी जीत रही हैं। गठबंधन के चंद्रभद्र सिंह हार रहे हैं।


कन्नौज से डिंपल यादव जीत रही हैं। भाजपा के सुब्रत पाठक हार रहे हैं।



गोरखपुर लोकसभा की अगर बात करें तो इस सीट पर भाजपा के प्रत्याशी रवि किशन जीत दर्ज करते दिखाई दे रहे हैं। यहां गठबंधन के राम भुआल निषाद मैदान में हैं, जिनके हार की संभावना बनती दिखाई दे रही है।



आजमगढ़ लोकसभा सीट की अगर बात करें तो इस सीट पर खुद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं....अखिलेश की जीत की संभावना काफी ज्यादा है जबकि, भाजपा ने एक्टर दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ को मैदान में उतारा है, दिनेश लाल यादव यहां हारते नजर आ रहे हैं।



गाजीपुर लोकसभा सीट पर इस बार उलटफेर की संभावना है। यहां से भाजपा के प्रत्याशी मनोज सिन्हा हारते नजर आ रहे हैं जबकि, गठबंधन की ओर से मैदान में उतरे अफजाल अंसारी की जीत का अनुमान है।



देश की सबसे वीआईपी सीट वाराणसी की अगर बात करें तो यहां एक बाऱ फिर मोदी मैजिक देखने को मिल रहा है। यहां भाजपा प्रत्याशी नरेन्द्र दामोदर दास मोदी एक बाऱ फिर सांसद चुने जा सकते हैं जबकि, गठबंधन की शालिनी यादव की हार का अनुमान लगाया जा रहा है।