मैन वर्सेस वाइल्ड दुनिया तक पहुंचाएगा जिम कॉर्बेट का रोमांच, उत्तराखंड कैबिनेट ने पीएम मोदी को दिया धन्यवाद

उत्तराखंड कैबिनेट ने प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया है। डिस्कवरी चैनल के माध्यम से मैन वर्सेस वाइल्ड कार्यक्रम में जिम कार्बेट के रोमांच और उसके सौंदर्य को दुनिया तक पहुंचाया। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी भूमिका अदा की है।

By: सचिन बाजपेयी | Updated: 13 Aug 2019 08:10 PM
Uttrakhand cabinet given thanks to PM Modi

देहरादून, एजेंसी।  उत्तराखंड कैबिनेट ने मंगलवार को 'मैन वर्सेस वाइल्ड' कार्यक्रम के जरिए प्रदेश में स्थित कॉर्बेट नेशनल पार्क के सौंदर्य, एडवेंचर और समृद्ध वन्यजीव संपदा को दुनियाभर में प्रसिद्धि दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में यहां हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में पेश प्रस्ताव में कहा गया कि कॉर्बेट पार्क की खूबसूरती और रहस्य रोमांच को निहारने दुनियाभर के सैलानी यहां आएंगे और साथ ही देश दुनिया के वन्यजीव प्रेमी भी आकर्षित होंगे।




इससे उत्तराखण्ड को प्रसिद्धि मिलने के साथ ही कॉर्बेट के आसपास के लोगों को रोजगार के अवसर भी मिल सकेंगे। बैठक में कहा गया कि उत्तराखण्ड के प्रति प्रधानमंत्री मोदी का विशेष लगाव रहा है और 2013 की भीषण आपदा के बाद चारधाम यात्रा के पटरी से उतरने के बाद प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद उन्होंने बदरीनाथ और केदारनाथ धाम के दर्शन किए जिससे श्रद्धालुओं का विश्वास चारधाम यात्रा में लौटा।


मंत्रिमंडल ने कहा कि पिछले वर्ष उत्तराखण्ड में आयोजित योग दिवस में शामिल होकर प्रधानमंत्री ने पूरी दुनिया को देवभूमि से योगभूमि का संदेश दिया । उन्होंने वीरभूमि को सैन्यभूमि की संज्ञा देकर उत्तराखंड का मान भी बढाया।


उत्तराखंड में उद्योगों को गति देने के लिए पिछले वर्ष आयोजित इन्वेस्टर्स समिट में प्रधानमंत्री मोदी ने देश दुनिया के इन्वेस्टर्स को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया था और उनके आह्वान पर निवेशकों के साथ सवा लाख करोड़ रुपए के एमओयू साइन किए गए हैं बैठक में तत्काल तीन तलाक पर कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं को राहत देने एवं जम्मू-कश्मीर में विकास के लिए अनुच्छेद 370 में बदलाव जैसे कार्यों के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया गया तथा कहा गया कि चंद्रयान-2 का सफल प्रक्षेपण भारत की अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में एक लम्बी छलांग एवं महान उपलब्धि है।