बाल सुधार गृह से पांच बाल बंदी फरार, लोहे की ग्रिल काटकर बाहर लगाई छलांग

नौबस्ता के बौद्ध नगर में बाल सुधार गृह बना है। यहां दूसरी मंजिल से रविवार रात लोहे की खिड़की की दो ग्रिल काटकर पांच बाल बंदी भाग निकले।

By: एबीपी गंगा | Updated: 20 May 2019 03:18 PM
Five inmates escape from juvenile home in Kanpur

कानपुर, एबीपी गंगा। नौबस्ता स्थित बाल सुधार गृह से खिड़की की ग्रिल काटकर पांच बाल बंदी फरार हो गए। सोमवार की सुबह गिनती के समय केयरटेकर को बाल बंदी कम मिले तो अफरातफरी मच गई। जानकारी होते ही नौबस्ता पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू कर दी।


काट दी लोहे की ग्रिल


नौबस्ता के बौद्ध नगर में बाल सुधार गृह बना है। यहां दूसरी मंजिल से रविवार रात लोहे की खिड़की की दो ग्रिल काटकर पांच बाल बंदी भाग निकले। उन्होंने आरी से लोहे की ग्रिल काटी और कपड़ों को आपास में बांधकर खिड़की के सहारे छज्जे पर उतरे। इसके बाद छज्जे से सटे पेड़ पर चढ़कर नीचे उतरने के बाद फरार हो गए।


गिनती के वक्त हुआ खुलासा


सोमवार की सुबह बाल सुधार गृह में केयर टेकर ने बाल बंदियों की गिनती की तो पांच कम मिले। केयर टेकर ने पहले बाथरुम व अन्य स्थानों पर तलाश कराई लेकिन पांच बाल बंदियों का पता नहीं चला। इसपर सुधार गृह में अफरातफरी मच गई। पुलिस और उच्चाधिकारियों को घटना जानकारी दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन की और पूछताछ करने पर सुधार गृह में कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं हुआ।


मामले की जांच जारी


फरार बाल बंदियों में एक फतेहपुर, एक नवाबगंज, एक कोहना क्षेत्र, एक सचेंडी व एक बिहार का है। इनमें तीन बाल बंदी चोरी, एक बंदी किशोरी को भगाने व एक को मारपीट के मामले में बाल सुधार गृह में रखा गया था। नौबस्ता थाना प्रभारी समर बहादुर ने बताया कि पांच बाल बंदी के फरार होने की छानबीन कराई जा रही है।



बंदियों के बीच हुई थी मारपीट


बाल सुधार गृह में तीन दिन पहले बाल बंदियों के बीच आपस मे मारपीट हुई थी। इसमें एक किशोर के चेहरे पर काफी चोट आई थी और उसे उर्सला अस्पताल में भर्ती कराय गया था। आशंका जताई जा रही कि आपसी मारपीट व कर्मचारियों की कार्यशैली से परेशान होकर बाल बंदी भागे हैं। इस बात को लेकर पुलिस छानबीन कर रही है कि बाल बंदियों के पास लोहे की ग्रिल काटने के लिए आरी कहां से आई।