छात्रा का बयान दर्ज होने के बाद बिगड़ी चिन्मयानंद की तबीयत, डॉक्टरों की टीम पहुंची 'दिव्य धाम'

यौन शोषण के आरोपों में घिरे चिन्मयानंद की तबीयत खराब हो गई है। डॉक्टर उनका इलाज कर रहे हैं। चिन्मयानंद पर लॉ की एक छात्रा ने रेप और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था।

By: एबीपी गंगा | Updated: 17 Sep 2019 01:52 PM
doctors at Swami Chinmayanand residence after he complained of health problems

शाहजहांपुर, एबीपी गंगा। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री व बीजेपी नेता स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली लॉ स्टूडेंट ने सोमवार को कोर्ट में अपने बयान दर्ज कराए। इसके बाद चिन्मयानंद की तबीयत अचानक बिगड़ गई है। बताया जा रहा है कि डॉक्टरों की टीम उनकी देखभाल कर रही है।





चिन्मयानंद पर लॉ की एक छात्रा ने रेप और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था। पीड़िता चिन्मयानंद के ही लॉ कॉलेज की छात्रा है। एसआईटी से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि अब तक मामले से जुड़े तमाम गवाहों, शिकायतकर्ता के बयान दर्ज किए जा चुके हैं। सबसे महत्वपूर्ण पीड़िता का बयान बचा था, जिसमें उसने चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाया था।



बता दें कि शाहजहांपुर लॉ कॉलेज की एक छात्रा ने 24 अगस्त को सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट करके चिन्मयानंद पर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का खुलासा किया था। साथ ही अपनी व अपने परिवार को जान का खतरा बताया था। इसके बाद लड़की लापता हो गई थी। इस मामले में चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया था। राजस्थान से बरामद होने के बाद छात्रा ने चिन्मयानंद पर रेप का आरोप भी लगाया।



उच्चतम न्यायालय ने मामले में स्वत: संज्ञान लिया जिसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने एसआईटी का गठन किया जो इस पूरे मामले की जांच कर रही है। एसआईटी मामले में छात्रा के तीन दोस्तों और उसके कॉलेज के कुछ कर्मचारियों से पूछताछ कर चुकी है। एसआईटी ने छात्रा के जिन मित्रों से पूछताछ की है उनमें वह लड़का भी शामिल है जो राजस्थान में उसकी बरामदगी के वक्त उसके साथ था।



इस बीच चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा के पिता ने आरोप लगाया है कि एसआईटी ने उनकी बेटी द्वारा दिए गए वीडियो रिकॉर्डिग में से फुटेज लीक कर दिया है। उन्होंने कहा कि, 'यह साजिश है और मैं सुप्रीम कोर्ट से इस मामले की जांच का आग्रह करूंगा।'