बदला रूप नया, आकार ये है नई मोदी सरकार

एबीपी गंगा | 01 Jun 2019 12:16 AM

प्रधानमंत्री मोदी ने सभी मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है। गृह मंत्रालय इस बार अमित शाह देखेंगे तो राजनाथ सिंह रक्षा मंत्री बने हैं। अरुण जेटली की जगह निर्मला सीतारमण हैं, जिन्हें अबतक आपने रक्षा मंत्री के तौर पर देखा था। तो विदेश मंत्री एक गैर-राजनीतिक शख्स एस जयशंकर को बनाया गया है। ये चारों मंत्री सुरक्षा से जुड़ी कैबिनेट कमेटी में भी रहेंगे। इसके बाद देश के लिए सबसे अहम होती है शिक्षा, जिसका जिम्मा उत्तराखंड के पूर्व सीएम रमेश पोखरियाल निशंक को दिया गया है। अमेठी में गांधी परिवार के गढ़ में ही राहुल गांधी को शिकस्त देने वाली स्मृति ईरानी को महिला कल्याण और बाल विकास मंत्रालय दिया गया है। हालांकि खबर आ रही है कि वो अपने मंत्रालय से खुश नहीं हैं लेकिन माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी उन्हें समझा लेंगे।


शपथ ग्रहण के 24 घंटे के अंदर ही फिर एक बार मोदी सरकार काम के लिए तैयार है। मंत्रालयों का बंटवारा करने के साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा से जुड़ी कैबिनेट कमेटी के चारों चेहरों को बदल दिया है। अमित शाह मंत्री बने तो उनका सीसीएस में शामिल होना तय था। चर्चा वित्त मंत्रालय की भी थी, लेकिन उन्हें मनचाहा गृह मंत्रालय ही दिया गया।

पिछली मोदी सरकार में गृहमंत्री रहे राजनाथ सिंह को इस बार रक्षा मंत्री बना दिया गया। रक्षा मंत्री के तौर पर पिछली मोदी सरकार में काम कर चुकीं निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्री बनाया गया। पिछली सरकार में ये अहम जिम्मा अरुण जेटली के पास था जो खराब सेहत की वजह से इस बार चुनाव और सरकार से दूर हैं। सीसीएस का चौथा और अहम मंत्रालय विदेश इस बार किसी राजनेता को नहीं, बल्कि पूर्व राजनयिक एस जयशंकर को दिया गया है।

सीसीएस के बाद इस बार माना जा रहा है कि शिक्षा का क्षेत्र मोदी के एजेंडे में टॉप पर है और मोदी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट का जिम्मा दिया गया है उत्तराखंड से आने वाले रमेश पोखरियाल निशंक को। उन्हें सरकार का लंबा अनुभव है और वो मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

नई मोदी सरकार में खुद पीएम मोदी और राजनाथ सिंह को लेकर यूपी से कुल 9 मंत्री शामिल किये गए हैं।  जिनमें स्मृति ईरानी को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, महेंद्रनाथ पांडेय को कौशल विकास मंत्रालय, संतोष गंगवार को श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार,  जनरल वीके सिंह को सड़क परिवहन राज्य मंत्री,  साध्वी निरंजन ज्योति को ग्रामीण विकास राज्यमंत्री
हरदीप पुरी को शहरी विकास राज्य मंत्री , संजीव बालियान को पशुपालन राज्य मंत्री बनाया गया है।

यूपी में तो खुद पीएम मोदी का करिश्मा और योगी सरकार के कामों का नतीजा सामने आया है लेकिन सवाल अब नए मंत्रिमंडल और उसके कामों को लेकर है, जिस तरह सुरक्षा से जुड़े मामलों में अमित शाह को गृह और राजनाथ को रक्षा मंत्रालय दिया गया है। क्या मोदी का ये प्रयोग ज्यादा कारगर होगा,  इसी तरह क्या निर्मला सीतारमण बतौर वित्तमंत्री अरुण जेटली जैसी कुशल साबित होंगी, मंत्रियों की फेरबदल से क्या सीसीएस और मजबूत होगी। सवाल एक ये भी है कि क्या निशंक के सहारे मोदी शिक्षा क्षेत्र को नई ऊंचाई दे पायेंगे ।