खेत में काम कर रहे किसानों पर तेंदुए ने किया हमला, ग्रामीणों ने घेरकर लाठी-डंडों से मार डाला

वनेश्वर कुमार गांव के नजदीक गन्ने की निराई कर रहे थे कि अचानक एक तेंदुए ने उनपर हमला कर दिया। तेंदुए ने भुवनेश्वर की पीठ, कमर व गर्दन को जख्मी कर दिया।

By: एबीपी गंगा | Updated: 17 May 2019 12:50 PM
people killed leopard in bareilly

बरेली, एबीपी गंगा। रिठौरा क्षेत्र के गांव बढ़ेपुरा में तेंदुए ने खेतों में काम कर रहे दो किसानों पर हमला कर दिया। शोर-शराबा सुनकर भीड़ मौके पर एकत्र हो गई जिसके बाद तेंदुआ भाग गया। बढ़ेपुरा गांव  के रहने वाले भुवनेश्वर कुमार गांव के नजदीक गन्ने की निराई कर रहे थे कि अचानक एक तेंदुए ने उनपर हमला कर दिया। तेंदुए ने भुवनेश्वर की पीठ, कमर व गर्दन को जख्मी कर दिया। चीख-पुकार सुन आसपास खेतों में काम कर रहे किसानों ने उन्हें बचाया।


सूचना पर पहुंचे अधिकारी


सूचना पर वन क्षेत्राधिकारी नील माणि, डिप्टी रेंजर चंद्र सिंह, वन दारोगा पुष्कर जोशी, वन रक्षक चंद्रशेखर पुजारी, वन कर्मी अकबर अली बढ़ेपुरा पहुंचे। वन क्षेत्राधिकारी ने टीम के साथ जंगल में कांबिंग की। तेंदुआ के पगचिह्न मिले लेकिन, वह नहीं दिखा। वन क्षेत्राधिकारी ने ग्राम बढ़ेपुरा व आस पड़ोस के ग्रामीणों को सतर्क रहने को कहा। तेंदुआ पकड़ने के लिए दो टीमें बनाईं, जो कैंप के लिए छोड़ दी गईं।



ग्रामीणों ने मार डाला


गुरुवार देर शाम तेंदुआ कमुआ गांव जा पहुंचा और खेत में काम कर रहे शिवकुमार (50) पर भी हमला कर दिया। सूचना पर टीम वहां भी पहुंची मगर लौट आई। इस बीच कमुआ के ग्रामीणों ने तेंदुआ को घेरा लिया और लाठी डंडों से पीटकर उसे मार डाला। बाद में सूचना पर वन क्षेत्राधिकारी व एसओ हाफिजगंज सौरभ सिंह मौके पर पहुंचे।