फर्जी IPS बन लड़कियों से करता था चैटिंग, असली IPS को मां-बेटी करने लगी ब्लैकमेल; तीनों गिरफ्तार

बरेली में लोगों को धोखाधड़ी और ब्लैकमेलिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। जिसमें एक शख्स आईपीएस बनकर फेसबुक पर लड़कियों से चैटिंग करता था, जबकि मां-बेटी द्वारा असली आईपीएस को ब्लैकमेल करने के आरोप में जेल भेजा गया है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 03 Sep 2019 08:25 AM
Mother daughter and person using fake Facebook ID arrested for blackmailing IPS noorul hasan in Bareilly
बरेली, एबीपी गंगा। कहते हैं लालच बुरी बला है और ऐसे ही लालच ने तीन अलग-अलग लोगों को एक ही मामले में जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। एक ने फेसबुक पर आईपीएस की फोटो लगाकर फर्जी आईडी से सैकड़ों लड़कियों से चैटिंग शुरू कर दी, तो फर्जी चैटिंग के आधार पर एक लड़की और उसकी मां ने असली आईपीएस अफसर का जीना हराम कर दिया। आईपीएस से बिना मिले, बिना बात किए, यौन शोषण के मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। उनके पिता को धमकाने और अवैध वसूली की कोशिश शुरू कर दी। धोखधड़ी के आरोप में इन तीनों को ही जेल भेज दिया गया है।

बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि जीवन में बड़े -बड़े सपने देखने चाहिए, पर बिना मेहनत के बड़े सपने देखने वाले अक्सर कानून के गुनहगार हो जाते है। ऐसा ही हुआ बरेली में।


जानते है पूरा मामला क्या है?


दरअसल, बरेली के रहने वाले  नूरल हसन एक साफ सुथरी छवि के आईपीएस अफसर हैं, जो फिलहाल महाराष्ट्र के एक जिले में एसपी के पद पर तैनात है। सामान्य परिवार से आईपीएस तक पहुंचने के चलते वह सोशल मीडिया पर मशहूर हैं। उनकी एक फोटो दिल्ली के रहने वाले जावेद नाम के शख्स को एक ग्रुप पर मिल गई। उसने उसे अपने प्रोफाइल में लगा लिया। फिर तो उसे चारों तरफ से फ्रेंड रिक्वेस्ट आने लगीं, जिनमें सबसे ज्यादा लड़कियों की थी। फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने वालों में बरेली की एक लड़की भी शामिल थी।आरोपी जावेद आईपीएस बनकर लड़कियों से चैट करने लगा। धीरे-धीरे उसे इस खेल में मजा आने लगा।


वहीं, दूसरी तरफ बिना मेहनत के सुनहरे ख्वाब देखने वाली कुछ लड़कियों ने उसे आईपीएस समझकर उससे दोस्ती बढ़ानी शुरू कर दी। कुछ ने खुली और अंतरंग  बातचीत शुरू कर दी और शादी के वादे भी शुरू हो गये। उन्हीं में से बरेली की एक लड़की मेहनाज भी थी। जो आईपीएस के नाते शादी करने को कुछ ज्यादा ही उतावली होने लगी, तो जावेद ने उससे बात बंदकर दी।


फर्जी आईपीएस जावेद ने जब बातचीत बंद की तो मेहनाज और उसकी मां ने असली आईपीएस नूरल हसन के पिता और उनसे संपर्क करना शुरू किया। उनके पिता ने सारे सबूत दिखाए, कि ये कोई फर्जी है। उनका बेटा नहीं है, पर  युवती आईपीएस से शादी की जिद पर अड़ गई। शादी न करने की स्थिति में उसने बदनाम करने, सुसाइड कर लेने और झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देनी शुरू कर दी। जिससे परेशान हो उनके पिता ने पुलिस में फर्जी आईडी बनाने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया और जांच में साफ होने के बाद भी ब्लैकमेल करने और अवैध वसूली में दोनों मां-बेटी के खिलाफ भी मुकदमा लिखवाया।


वहीं, खुद को फंसता देख दोनों मां-बेटी कभी माफी मांगें, तो कभी आक्रामक हो जाएं। पुलिस ने ऑडियो रिकॉर्डिंग, मैसेज और कॉल रिकॉर्ड के सबूतों के आधार पर फर्जी आईपीएस बन चैटिंग करने वाले जावेद और ब्लैकमेलिंग कर शादी का दबाव बनाने और अवैध वसूली करने की कोशिश करने वाली शातिर मां- बेटी को जेल भेज दिया है।