बेटी की विदाई के बाद घर में लगी आग, जिंदा जल गई दुल्हन की मां, पांच की हालत गंभीर

मंजू ने आग बुझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन आग भड़क गई। आग में मंजू व कमरे के अंदर मौजूद लोग फंस गये। वहां से निकलने का कोई रास्ता नहीं था।

By: एबीपी गंगा | Updated: 09 May 2019 04:47 PM
more than one dozen suffer burn injuries in fire after gas cylinder leak

बरेली, एबीपी गंगा। बेटी को विदा करने के बाद शादी वाले घर में मौजूद मेहमानों लिए खाना बनते समय अचानक सिलेंडर में आग लग गई। जब तक कोई कुछ समझ पाता। आग ने पड़ोस में बने कमरे को अपनी चपेट में ले लिया। आग की चपेट में आने से परिवार के सदस्य व रिश्तेदार झुलस गए। जब तक आग पर काबू पाया गया, दुल्हन की मां, दो बहनों समेत 11 लोग झुलस चुके थे। जिला पंचायत अध्यक्ष ने ग्रामीणों की मदद से सभी को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां दुल्हन की मां को मृत घोषित कर दिया गया। डॉक्टरों के मुताबिक पांच घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है।


बेटी की विदाई के बाद हुआ हादसा


सिंधौली क्षेत्र के गांव पैना सुंदरनगर निवासी सतीश और मंजू की बेटी अलका की मंगलवार शाम रोजा क्षेत्र के जमुही गांव से बरात आई थी। बुधवार सुबह करीब 11 बजे दूल्हा सूरज व अलका की विदाई के बाद परिजन और रिश्तेदार मकान के अंदर कमरे में बैठे हुए थे। अलका की मां कमरे बाहर बने टीनशेड के नीचे मेहमानों के लिए खाना बना रहीं थीं। इसी दौरान सिलेंडर का पाइप लीक होने से आग लग गई।



कमरे से नहीं निकल पाए लोग


मंजू ने आग बुझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन आग भड़क गई। आग में मंजू व कमरे के अंदर मौजूद लोग फंस गये। वहां से निकलने का कोई रास्ता नहीं था। ग्रामीणों और बाहर मौजूद परिजनों ने बालू व पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास किया, इस बीच जलता हुआ सिलेंडर तेज आवाज के साथ टीनशेड तोड़ता हुआ बाहर आ गिरा। आग बुझने पर आनन-फानन में झुलसे हुए लोगों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मंजू को मृत घोषित कर दिया।