दुष्कर्म के बाद किया निकाह और फिर बनाया गर्भपात का दबाव, विरोध करने पर दिए करंट के झटके

पीड़िता का आरोप है कि शैहर व ससुराल वाले गर्भपात का दबाव बना रहे थे। मना करने पर सभी ने मिलकर उसकी पिटाई की। इतना ही नहीं, कमरे में बंदकर उसे करंट के झटके दिए गए।

By: एबीपी गंगा | Updated: 19 May 2019 06:03 PM
husband tortures mentally and physically to pregnant wife in bareilly

बरेली, एबीपी गंगा। युवती के साथ दुष्कर्म करने के बाद जेल जाने का डर सताने लगा तो युवक ने उसके साथ निकाह कर लिया। निकाह के बाद शौहर बीवी पर जुल्म करने लगा। बीवी दो माह की गर्भवती हुई तो शौहर ने उसका गर्भपात करने के लिए करंट के झटके दिए। शौहर हत्या की योजना बना रहा था कि बीवी को उसकी साजिश की भनक लग गई और वह ससुराव से भागकर मायके आ गई। मायके आने के बाद उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई और आरोपी शोहर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।


निकाह कर मामले को दबाया


शेरगढ़ के एक गांव में रहने वाली युवती से कुछ महीने पहले दुष्कर्म हुआ। मामला चर्चा में आया तो आरोपी ने निकाह की बात कहकर पीड़िता को चुप करा दिया। हालांकि इसके बावजूद रिश्ता नहीं किया तो पीड़िता थाने पहुंची। जेल जाने का डर सताया तब आरोपी निकाह को राजी हुआ। निकाह होने के बाद युवती उसके साथ रहने लगी। पीड़िता का कहना है कि दो महीने सब ठीक-ठाक चलता रहा लेकिन उसके बाद शौहर प्रताड़ित करने लगा। बात-बात पर उसे ताना मारते हुए पति व ससुराल वाले मारपीट करते। उसी दौरान पता चला कि वह गर्भवती है। सोचा कि ससुराल वाले इस खबर से खुश होंगे, मगर उन्होंने जैसे ही सुना, उनका पारा चढ़ गया।


जबरन दवा खाने का बनाया दबाव


पीड़िता का आरोप है कि शैहर व ससुराल वाले गर्भपात का दबाव बना रहे थे। मना करने पर सभी ने मिलकर उसकी पिटाई की। इतना ही नहीं, कमरे में बंदकर उसे करंट के झटके दिए गए। उसके गाल में करंट से जलने के निशान तक पड़ गए। पीड़िता ने यह भी बताया कि मायके वालों से मिलने पर पाबंदी लगा दी गई। किसी से बात न कर सकूं, इसलिए मोबाइल फोन छीन लिया गया। बीते दिनों शौहर गर्भपात की दवा लेकर पहुंचा। दवा खाने से इन्कार किया तो उसने परिजनों को बुला लिया। धमकी दी कि यदि दवा नहीं खाई तो लाठी-डंडे से वार कर गर्भपात कर दूंगा। विरोध की कोशिश की तो उसके कपड़े उतार दिए गए। खौफ में आकर खुद ही दवा खानी पड़ी और गर्भपात हो गया।


जान से मारने का बना रहे थे प्लान


पीड़िता का कहना है कि दो दिन पहले सहरी के दौरान ससुराल वाले हत्या की योजना बना रहे थे और उसने यह सब सुन लिया। सहरी से पहले पति व ससुराली नमाज पढ़ रहे थे, उसी दौरान जान बचाकर वहां से भाग निकली और मायके पहुंच गई। शनिवार को पीड़िता एसएसपी दफ्तर पहुंची और शिकायत की।