हैवानियत! प्रेमी ने दोस्तों के साथ मिलकर किया सामूहिक दुष्कर्म, विरोध करने पर प्राइवेट पार्ट पर मारे डंडे

पीड़िता ने परिवार को वारदात के बारे में बताया। पीड़िता का कहना है कि प्रेमी और उसके दोस्तों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और उसके प्राइवेट पार्ट पर डंडे मारे।

By: एबीपी गंगा | Updated: 24 May 2019 01:02 PM
Gang rape With young girl in Bareilly

बरेली, एबीपी गंगा। देवी जागरण गायिका से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में मतगणना की वजह से पुलिस तफ्तीश फिलहाल आगे नहीं बढ़ सकी है। हालांकि अस्पताल में भर्ती पीड़िता को होश आ गया है। पीड़िता ने परिवार को वारदात के बारे में बताया। पीड़िता का कहना है कि प्रेमी और उसके दोस्तों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और उसके प्राइवेट पार्ट पर डंडे मारे। फिर बेहोशी की हालत में सड़क किनारे छोड़कर भाग गए।


दौड़ाती रही पुलिस


गायिका नवाबगंज के एक गांव के पास बेहोशी की हालत में पड़ी मिली थी। सूचना पर परिजन पहुंचे और पीलीभीत ले गए। वहां डॉक्टरों ने हालत गंभीर देखते हुए पुलिस में रिपोर्ट कराने के बाद उपचार कराने की सलाह दी। परिजन नवाबगंज थाने गए तो नवाबगंज पुलिस ने हाफिजगंज क्षेत्र की घटना बताकर हाफिजगंज भेज दिया। वहां पुलिस ने रिपोर्ट के बाद मेडिकल परीक्षण को बरेली भेज दिया।


विरोध करने पर बेरहमी से पीटा


बड़ी बहन के मुताबिक होश में आने पर पीड़िता ने बताया कि वह एक गांव में अपने साथी के साथ देवी जागरण करने गई थी। वहां साथी की बहन से उसकी दोस्ती हो गई थी। यह बात उसके भाई को नागवार गुजरी इसी के बाद आरोपी पीड़िता को फुसलाकर एक गांव में ले गया और एक कमरे में बंद कर दिया। जहां साथी कलाकार और एक अन्य व्यक्ति ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध पर बेरहमी से पीटा तथा प्राइवेट पार्ट्स पर भी डंडे मारकर लहूलुहान कर दिया। परिवार का कहना है कि युवती का उपचार भी ठीक से नहीं हो रहा है। छुट्टी करने का दबाव बनाया जा रहा है। जबकि अभी हालत ठीक नहीं है।



दर्ज कराएंगे पीड़िता के बयान


हाफिजगंज पुलिस ने तो हद पार करते हुए मेडिकल परीक्षण में केवल मारपीट का जिक्र किया और दुष्कर्म की बात छुपा ली। डॉक्टरों ने भी इसी आधार पर चोटों का इलाज किया। प्रभारी सीएमएस डॉ. यशवंत ने बताया कि हाफिजगंज पुलिस लिखकर दे तभी वे दुष्कर्म की स्थिति की जांच कराएंगे। इलाज कराया जा रहा है, उसमें कोई कोताही नहीं है। वहीं, हाफिजगंज एसओ सौरभ सिंह ने कहा कि वह थाना पुलिस के साथ चुनाव ड्यूटी में थे। शुक्रवार को पीड़िता के बयान दर्ज कराएंगे। डॉक्टर जिस तरह की मदद चाहेंगे, दे दी जाएगी।