ताजमहल में होगा ब्रेस्टफीडिंग रूम, देश में ऐसी सुविधा वाला पहला स्मारक

दुनिया के सात अजूबों में से एक ताजमहल में अब महिलाओं के लिए विशेष सुविधा की तैयारी की जा रही है। इसके तहत ऐतिहासिक इमारत के परिसर में ब्रेस्ट फीडिंग रूम तैयार किया जा रहा है। जहां दुधमुंहे बच्चों को मां स्तनपान करा सकेंगी।

By: एबीपी गंगा | Updated: 29 May 2019 05:45 PM
breast feeding room at Tajmahal campus

आगरा,एबीपी गंगा। आगरा में ताजमहल के दीदार को आने वाले देसी और विदेशी महिला पर्यटकों को अब स्मारक के अंदर ब्रैस्ट फीडिंग रूम की सुविधा मिलने वाली है। देश में पहला स्मारक ताजमहल होगा जिसमें फीडिंग रूम बनाया जा रहा है। एक सप्ताह के अंदर यह रूम बनकर तैयार हो जाएगा। जल्द से जल्द तैयार करने के लिये कारीगर लगातार काम कर रहे हैं।



करीब 12 फुट ऊंचा और 9 फुट लंबा फीडिंग रूम सवा लाख रुपए की धनराशि से तैयार किया जा रहा है। इसमें पंखा और बैठने के लिए उचित व्यवस्था भी की गई है। रॉयल गेट के नजदीक बनी वीआईपी टॉयलेट के पास बरामदे में फीडिंग रूम बनाया जा रहा है।



ताजमहल पर एक साल में औसतन करीब एक करोड़ से अधिक सैलानी ताज दीदार के लिए आगरा आते हैं। इनमें बड़ी संख्या में महिला पर्यटक भी होती हैं। वो अपने नौनिहालों के साथ ताज दीदार को आती हैं। ऐसे में फीडिंग रूम ना होने से उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। रोते हुए बच्चों को चुप कराने में काफी परेशानी होती है। इसे देखते हुए स्मारक के अंदर फीडिंग रूम बनाने की कवायद की गई है। इस रूम के लिए रॉयल गेट के समीप बने बरामदे में स्थान दिया गया है। फीडिंग रूम लकड़ी और एलमुनियम से बनाया जा रहा है।