यूपी पीसीएस परीक्षा 2017: प्रतापगढ़ के टॉपर अमित शुक्ला बनना चाहते हैं IAS

यूपी पीसीएस परीक्षा 2017 के नतीजों का एलान कर दिया गया है। प्रतापगढ़ जिले के अमित शुक्ला ने परीक्षा में टॉप किया है। वहीं अनुपम मिश्रा ने दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

By: एबीपी गंगा | Updated: 11 Oct 2019 04:05 PM
UP PCS Result 2017: Amit Shukla got first rank

लखनऊ, एबीपी गंगा। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पीसीएस परीक्षा 2017 का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है। गुरुवार को देर शाम तक नतीजों को जारी किया गया। इस तरह 676 अधिकारी राज्य सेवा के लिये चुने गये। प्रतापगढ़ के अमित शुक्ला ने परीक्षा में टॉप किया यही नहीं इसी जिले की मीनाक्षी पांडे ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। यूपी पीसीएस 2017 के घोषित हुए नतीजों में प्रयागराज के अनुपम मिश्र को मेरिट में दूसरा स्थान हासिल हुआ है। उन्हें यह कामयाबी पहले ही प्रयास में हासिल हुई है। अनुपम सिविल इंजीनियर हैं और उन्होंने चार साल तक एक मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी भी की है। नौकरी में रहते हुए ही उन्होंने तैयारी की और पहले ही प्रयास में सफलता पाई।


आईएएस बनना चाहते हैं अमित शुक्ला


2017 की पीसीएस परीक्षा में टॉप करने वाले प्रतापगढ़ के अमित शुक्ल 2016 में कामर्शियल टैक्स अफसर के पद पर चयनित हुए थे, लेकिन उन्होंने ज्वाइन नहीं किया था। उनका कहना है कि सफलता के लिए सबसे पहले लक्ष्य तय होना चाहिए। इसके बाद मेहनत और लगन से पढने से मंजिल जरूर मिलती है। अब उनका अगला लक्ष्य आइएएस बनना है।


टॉप फाइव की सूची में तीसरा स्थान पानेवाली शहर के बेल्हा देवी मंदिर के पास की मीनाक्षी पांडे रहीं, मीनाक्षी की प्राथमिक शिक्षा से लेकर स्नातक तक की शिक्षा यहीं हुई तो वही परास्नातक की शिक्षा इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से से ली। मीनाक्षी अंग्रेजी और इतिहास में मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद दिल्ली में रहकर तैयारी की। 2016 में भी सफलता मिली लेकिन नायब तहसीलदार का पद मिला, लेकिन इससे संतुष्टि नहीं मिली। जिसके बाद आगे की तैयारी में जुट गई और 2017 के रिजल्ट आने के बाद टॉप फाइव में तीसरा स्थान हासिल किया और एसडीएम के पद पर चयन हुआ। मीनाक्षी अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, कुछ मित्रों के साथ ही अपने शिक्षकों को देती हैं। मीनाक्षी का कहना है कि उन्हें जो जिम्मेदारी दी जाएगी उसको पूरी मेहनत और लगन के साथ निभाएंगी, सरकार और जनता के भरोसे पर खरा उतरने का प्रयास करेंगी।


मीनाक्षी के पिता राजनारायण पांडेय मंडी परिषद में सचिव के पद से रिटायर हैं तो मां प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका के पद से रिटायर है। पिता राजनारायण इस सफलता का पूरा श्रेय मीनाक्षी की मेहनत और लगन को देते हैं। राजनारायण के घर बधाई देने के लिए रिश्तेदारों और शुभचिंतकों का रिजल्ट आने के बाद से लगातार आनजाना लगा हुआ है, तो वही दूर दराज के रिश्तेदार और मित्रगण फोन से बधाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं प्रतापगढ़ की ही दिव्या ओझा भी टॉपटेन में नौवें स्थान पर रहीं और इन्हें भी एसडीएम का पद मिला है। दिव्या पूर्व कैबिनेट मंत्री प्रो. शिवकांत ओझा की भतीजी और तिलक कालेज के प्राचार्य निशाकान्त ओझा की बेटी है।