गाजियाबाद में पीएम आवास योजना में बड़ा फर्जीवाड़ा, डीएम ने 17 लोगों के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर

गाजियाबाद में प्रधानमंत्री आवास में एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। सरकारी जमीन के लिये फर्जी दस्तावेज के सहारे इस पूरे घोटाले को अंजाम दिया गया

By: एबीपी गंगा | Updated: 23 Sep 2019 04:39 PM
Fraud in PM awas  yojna in Ghaziabad

गाजियाबाद, एबीपी गंगा। गाजियाबाद में प्रधानमंत्री आवास योजना में एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। जांच के बाद गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे ने 17 लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई है, जिनमें से पांच लोग सर्वेयर कंपनी के कर्मचारी भी है साथ ही कंपनी पर गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे ने पांच लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।


दरअसल पूरा मामला गाजियाबाद के डासना नगर पंचायत से जुड़ा हुआ है जहां पर प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर सरकारी जमीन के ऊपर फर्जी दस्तावेज तैयार कर और अपात्र लोगों को योजना का लाभ दिया गया है, जिसके तहत 12 लाभार्थियों और सर्वेयर कंपनी के पांच कर्मचारियों पर जांच के बाद गाजियाबाद के जिलाधिकारी द्वारा एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए गए हैं। योजना के अंतर्गत लोगों ने फर्जी दस्तावेज तैयार कर योजना का लाभ लिया है। गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे ने परियोजना अधिकारी डूडा को निर्देश दिया है कि सरकारी धन की जल्द से जल्द रिकवरी भी कराई जाए साथ ही जिन लोगों ने इस पूरे प्रकरण में गड़बड़ी की है उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश डीएम द्वारा दिए गए हैं।


गौरतलब है कि प्रधानमंत्री आवास योजना में इस घोटाले से सरकारी विभाग में हड़कंप मच गया है इसके साथ ही जो लोग इस योजना का लाभ ले रहे हैं उन सभी पर भी आधिकारिक रूप से जांच की जा रही है।